-100 फुटा रोड पर पैदल चलने वालों के लिए जगह ही नहीं

-कई हादसे होने के बाद भी जिम्मेदारों ने नहीं दिया ध्यान

बरेली: शहर का विकास तो तेजी से हो रहा है, लेकिन विकास की इस दौड़ में पडेस्ट्रियन के अधिकार को अनदेखा किया जा रहा है. दैनिक जागरण आई नेक्स्ट के कैंपेन राइट टू पडेस्ट्रियन में आज हम डेलापीर से पीलीभीत बाईपास रोड तक बने 100 फुटा रोड के फुटपाथ का हाल दिखा रहे हैं. यहां राहगीरों को चलने के लिए जगह ही नहीं बची है. इसके चलते लोगों को सड़क पर चलना पड़ता है.

नालों पर भी जमाया कब्जा

100 फुटा रोड के व्यापारियों ने सड़क किनारे बने नालों पर भी स्लैव डालकर कब्जा करके दुकानें सजा ली हैं. इसके बाद सड़क किनारे बची जगह पर दुकानों के बोर्ड और यहां खरीददारी करने के लिए आने वाले लोगों के वाहन खड़े रहते हैं. ऐसे में राहगीरों को सड़क पर चलना पड़ता है.

बिजी रोड पर हादसे का खतरा

राजेंद्र नगर और आसपास के एरिया से पीलीभीत बाईपास रोड पर पहुंचने के लिए ज्यादातर लोग 100 फुटा रोड से गुजरते हैं. इसके चलते दिनभर रोड पर बड़ी संख्या में वाहनों की आवाजाही रहती है. इसके चलते सड़क पर चल रहे लोगों के साथ हादसे का भी डर बना रहता है. कई बार राहगीर इस रोड पर वाहनों की चपेट में आकर घायल भी हो चुके हैं.

सड़क पर बना ली पार्किंग

इस रोड पर बने हॉस्पिटल भी फुटपाथ पर कब्जा करने से पीछे नहीं हैं. हॉस्पिटल के बाहर सड़क किनारे ही पार्किंग बना ली गई है, जहां दिनभर तीमारदारों के वाहन खड़े रहते हैं.

कैसे साफ हों नाले

नालों के ऊपर स्लैव डालकर दुकानें लगा ली गई हैं. इसके चलते यहां के नालों की सफाई भी नहीं हो पाती है और आसपास बनी कॉलोनियों में लोगों को इसके कारण जलभराव की परेशानी से जूझना पड़ता है.

प्रचार भी फुटपाथ पर

कई व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान का प्रचार करने के लिए सड़क किनारे ही दुकानों के बोर्ड लगा रहे हैं. वहीं कई दुकानदार दुकान खोलने के साथ बोर्ड सड़क किनारे रख देते हैं और रात में दुकान बंद करने पर हटाते हैं. ऐसे में राहगीरों को सड़क पर चलना पड़ता है.

सड़क तक सजावट

सड़क किनारे अवैध कब्जा करने में बारातघर संचालक भी पीछे नहीं हैं. सौ फुटा रोड और पीलीभीत बाईपास रोड पर कई बारातघरों के बाहर सड़क तक कब्जा कर लिया गया है. बारातघर में कोई आयोजन होने पर सड़क तक सजावट कर दी जाती हैं, जिससे पैदल राहगीरों के साथ ही वाहन चालकों को भी परेशानी का सामना करना पड़ता है.

इस रोड पर पैदल चलने वालों के लिए जगह ही नहीं है. फुटपाथ तो कहीं दिखाई ही नहीं देते हैं. इसके कारण हादसे का भी डर बना रहता है.

रमेश

फुटपाथ पर कब्जे करना बहुत गलत बात है. इस पर सख्ती होनी चाहिए. जो लोग अवैध कब्जा किए हुए हैं उनका सामान जब्त होना चाहिए.

मोहित

सभी दुकानदारों ने सड़क तक अतिक्रमण कर लिया है. इसलिए लोगों को सड़क पर चलना पड़ता है. अधिकारियों को इस पर ध्यान देना चाहिए.

रवि

अतिक्रमण हटाने के कार्ययोजना बनाई जा रही है. जल्द ही अभियान चलाकर अतिक्रमण हटवाया जाएगा.

ईश शक्ति सिंह, अपर नगर आयुक्त