लखनऊ (एएनआई)। कानपुर एनकाउंटर मामले में मारे गए गैंगस्टर विकास दुबे का परिवार जांच एजेंसियों की निगरानी में है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मारे गए गैंगस्टर विकास दुबे की पत्नी रिचा को पूछताछ के लिए अपने लखनऊ कार्यालय में उपस्थित होने के लिए कहा है। ईडी एक मनी लॉन्ड्रिंग केस की जांच कर रहा है, जो विकास दुबे और उनके फाइनेंसर जयकांत बाजपेयी 10 सहयोगियों के खिलाफ पिछले महीने दर्ज किया गया था। अधिकारियों के अनुसार, धन शोधन रोकथाम अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया था। कथित तौर पर, आर्थिक अपराध शाखा ने उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में दुबे और उनके सहयोगियों के खिलाफ लगभग 60 एफआईआर के आधार पर मामला पंजीकरण किया है।
गैंगस्टर विकास दुबे मारा गया
विकास दुबे कानपुर एनकाउंटर मामले का मुख्य आरोपी था। उसने अपने साथियों के साथ मिलकर कथित तौर पर 2 जुलाई की रात को गिरफ्तार करने गई पुलिस टीम पर गोलियां चलाईं थी। इस मुठभेड़ में सर्कल अधिकारी देवेंद्र मिश्रा सहित आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे और गैंगस्टर विकास दुबे फरार हो गया था। हालांकि हत्या के मुख्य आरोपी विकास दुबे को पुलिस ने 9 जुलाई को मध्य प्रदेश के उज्जैन महाकालेश्वर मंदिर में सरेंडर कर दिया था। इसके बाद कानपुर लाते समय 10 जुलाई को एक मुठभेड़ में वह मारा गया था।

National News inextlive from India News Desk

LIVE : PNB MetLife Webinar

blinkLIVE