कानपुराइट्स को एंटरटेनमेंट की नई डोज मिलने वाली है. इसके लिए ‘मिनी मल्टीप्लेक्स’ बनाने की कवायद शुरू भी हो चुकी है. एक ऐसा एंटरटेनमेंट जोन जहां लोगों को मल्टीप्लेक्स जैसा माहौल मिलेगा. मतलब, बेहतरीन ऑडियो-वीडियो क्वालिटी वाली मूवी देखने के साथ ही हैंगआउट करने का बेहतरीन प्लेस. मनोरंजन कर विभाग ने दो मिनी मल्टीप्लेक्सेज को अप्रूवल भी दे दिया है. इनमें से एक प्रोजेक्ट पर काम भी शुरू हो चुका है.

मल्टीप्लेक्स से कम नहीं

मिनी मल्टीप्लेक्स का कॉनसेप्ट मनोरंजन कर विभाग का है, जिसका मुख्य उद्देश्य शहर के कोने-कोने में एंटरटेनमेंट की डोज पहुंचाने के साथ ही ज्यादा से ज्यादा रेवेन्यू भी अर्न करना भी है. डिपार्टमेंट ऑफिशियल्स के अनुसार मॉल के मल्टीप्लेक्स में मूवी देखना और वहां के रेस्टोरेंट में खाना-पीना जेब पर भारी पड़ता है. ऐसे में लोग फैमिली के साथ मल्टीप्लेक्स में हैंगआउट के बजाय घर के नजदीक होटल-रेस्टोरेंट्स या मार्केट में घूमने चले जाते हैं. इसका सीधा असर एंटरटेनमेंट टैक्स पर पड़ता है. इसीलिए मिनी मल्टीप्लेक्स का कॉन्सेप्ट तैयार किया गया है. यह एक ऐसा प्वाइंट होगा, जहां मल्टीप्लेक्स की तरह मूवी देखने के अलावा शॉपिंग और फूडिंग फैसिलिटीज भी होंगी, लेकिन कम कीमत पर.

सिंगल स्क्रीन पर

एंटरटेनमेंट डिपार्टमेंट ने सिंगल स्क्रीन का कायाकल्प करके मिनी मल्टीप्लेक्स बनाया है. एंटरटेनमेंट टैक्स डिपार्टमेंट के डिप्टी कमिश्नर नरेश बाबू ने बताया कि मिनी मल्टीप्लेक्स उसी जमीन पर बनाने का प्रावधान है, जो गवर्नमेंट से मनोरंजन के लिए अप्रूव हुई हो. लिहाजा, सिंगल स्क्रीन सिनेमा के लिए यह काफी मुफीद पॉलिसी है. एक्ट के तहत मिनी मल्टीप्लेक्स बनाने के लिए सिंगल स्क्रीन सिनेमा ओनर्स को रियायत भी दी जा रही है. नरेश बाबू के मुताबिक सिटी में 36 सिनेमा हॉल्स में से लगभग दो दर्जन बंद हो चुके हैं. अगर इन्हें दोबारा से शुरू किया जाए तो शहरवासी इन मिनी मल्टीप्लेक्स में मूवी देखने के साथ ही हैंगआउट भी कर सकेंगे.

दो सिनेमा हॉल में

नई पॉलिसी के तहत सिटी के सिंगल स्क्रीन सिनेमा हॉल ओनर्स ने मिनी मल्टीप्लेक्स बनाने के लिए एप्लीकेशन दी है. इनमें गुमटी नंबर-5 स्थित हिमाचल टॉकीज और अफीम कोठी चौराहा स्थित निखार पैलेस शामिल हैं. मनोरंजन कर विभाग से इन दोनों को अप्रूवल मिल चुका है. हिमाचल टॉकीज में इसी क्रम में काम भी शुरू हो चुका है. टॉकीज की बिल्डिंग लगभग आधी टूट चुकी है. एंटरटेनमेंट टैक्स अफसरों के अनुसार यहां 300 सीटों वाला मल्टीप्लेक्स थियेटर बनाया जा रहा है. बिल्डिंग के ग्राउंड फ्लोर पर शॉपिंग आउटलेट्स समेत रेस्टोरेंट भी होगा, जहां एफोर्डबल रेट्स पर लोगों को स्नैक्स व खानेपीने का अन्य सामान मिल सकेगा.

नटराज में पहले ही

बताते चलें सिंगल स्क्रीन को मॉडिफाइड करने के लिए गोविंद नगर स्थित नटराज सिनेमा ने पहले ही काम शुरू कर दिया है. इस सिनेमा हॉल को 3-स्क्रीन वाले मल्टीप्लेक्स में तब्दील किया जा रहा है. वहीं दूसरी ओर किदवई नगर आरबीआई कॉलोनी के सामने भी मल्टीप्लेक्स का प्रोजेक्ट चल रहा है. मनोरंजन कर अधिकारियों के मुताबिक बंद पड़े सिनेमा हॉल्स में ये बदलाव कानपुर और शहरवासियों के लिए बेहद खास होगा.

बंद सिंगल स्क्रीन सिनेमा हॉल :

सपना पैलेस

रूपम टॉकीज

नारायण टॉकीज

अनुपम टॉकीज

दीप सिनेमा

हिमाचल टॉकीज

न्यू बसंत टॉकीज

जय हिंद सिनेमा

ब्रिज सिनेमा

शीशमहल टॉकीज

संगीत टॉकीज

निशात सिनेमा

निखार टॉकीज

इम्पीरियल सिनेमा

निगार टॉकीज

रीगल सिनेमा

सुन्दर टॉकीज

अप्सरा पैलेस

पूनम टॉकीज