- मसीही समुदाय ने प्रभु यीशु के फिर से जी उठने की मनाई खुशियां

- चर्चेज से लेकर घरों तक बिखरी ईस्टर फेस्टिवल की रंगत

varanasi@inext.co.in

VARANASI: हजारों साल पहले एक शुक्रवार को इंसानियत के दुश्मनों ने परमेश्वर के बेटे प्रभु यीशु को क्रूस पर लटका दिया था. हर कोई इस क्रूर हादसे से सहम गया. लेकिन अचानक तीन दिन बाद रविवार ईस्टर को प्रभु यीशु फिर से जी उठे. मातम की घडि़यां खत्म हुई और हर तरफ खुशियों की लहर दौड़ गयी. प्रभु जी उठे हैं. अब हमारे दुखों का अंत होगा. कहीं भी कोई रोता बिलखता नहीं दिखेगा. हर किसी के मन में ऐसे ही जज्बातों का समंदर उमड़ता दिखा. प्रभु के जी उठने की खुशी में चर्चेज से लेकर घरों तक आकर्षक सजावट की गयी थी. हर तरफ लोग खुशियां मनाते-बांटते दिखे. ईस्टर बन खिला कर लोगों ने एक दूसरे को मुबारकबाद दी.

स्पेशल प्रेयर का हुआ आयोजन

बच्चों से लेकर बड़ों तक सभी में फेस्टिवल का उत्साह दिखा. चर्जेज में स्पेशल प्रेयर का आयोजन हुआ. इसमें बड़ी संख्या में मसीही समुदाय के लोग शामिल हुए. वे सुबह सुबह अपने हाथों में कैंडिल लेकर चर्च गये और वहां प्रेयर किया. सेंट मेरीज चर्च, लाल गिरिजा, तेलियाबाग चर्च, सेंटपाल चर्च, सेंट थॉमस चर्च, बेथेलफुल गोस्पल चर्च, न्यू कॉलोनी चर्च, सुंदरपुर चर्च सहित अन्य चर्चेज में लोगों ने प्रार्थना की. घरों और चर्चेज में लोगों ने प्रभु के जी उठने की खुशी में एक से बढ़कर कैरोल गाये. मसीही समुदाय के लोगों ने अपने प्रियजनों की कब्रों पर श्रद्धा के फूल भी अर्पित किये. सोमवार को ईस्टर मंडे के उपलक्ष्य में लाल गिरिजा कैंटोन्मेंट में ईस्टर मेला का आयोजन होगा.

इशुआ बैंक की धुनों पर झूमे लोग

केलर्जी फेलोशिप के बैनर तले रविवार को युनाइटेड ईस्टर मिलन पर म्युजिक के शानदार कार्यक्रम का आयोजन हुआ. कटिंग मेमोरियल इंटर कालेज ग्राउंड पर हुए कार्यक्रम में मुंबई से आये इशुआ बैंग की धुनों पर लोग झूमते रहे. कार्यक्रम में पूर्वाचल के कई शहरों के मसीही समुदाय के लोगों ने शिरकत की.

Posted By: Inextlive