- सफाई व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए नगर निगम की कवायद

- इंदौर की तर्ज पर शनिवार से कई इलाकों में अभियान भी शुरू किया गया

abhishekmishra@inext.co.in

LUCKNOW: शहर की सफाई व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए नगर निगम की ओर से रोज कोई न कोई प्रयोग किया जा रहा है. इसी कड़ी में अब एक प्रयोग इंदौर की तर्ज पर किया गया है. इसके तहत अगर किसी दुकान या मकान के बाहर कूड़ा मिलता है तो अब उसी मकान या दुकान के स्वामी से ही जुर्माना वसूलने के साथ-साथ उससे झाड़ू भी लगवाई जाएगी. जिससे संबंधित व्यक्ति के अंदर स्वच्छता की भावना पैदा हो सके. निगम की ओर से शनिवार से इस तरह का अभियान शुरू भी कर दिया गया है.

इंदौर में प्रयास

दरअसल, स्वच्छता सर्वेक्षण में पहले पायदान पर काबिज इंदौर में लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरुक करने के लिए कई कदम उठाए गए हैं. इसमें एक कदम गंदगी फैलाने वालों से झाड़ू भी लगवाना है. इसका खासा असर भी देखने को मिल रहा है. इस कदम को ध्यान में रखते हुए नगर निगम लखनऊ की ओर से भी इसी तर्ज पर यह व्यवस्था शहर में लागू कर दी गई है. इस अभियान के लिए पहले जोन एक को चुना गया है. इसके बाद धीरे-धीरे हर जोन में यह व्यवस्था लागू कर दी जाएगी और इसकी जिम्मेदारी जोनल अधिकारियों और सफाई पर्यवेक्षकों को दी जाएगी. जिससे जोन की हर गली में गंदगी फैलाने वालों से झाड़ू लगवाई जा सके.

जुर्माने का भी प्राविधान

नगर निगम की ओर से गंदगी फैलाने वालों से झाड़ू लगाने के साथ-साथ उनसे जुर्माना भी वसूल किया जाएगा. मतलब गंदगी फैलाने वालों को दोहरी सजा दी जाएगी. इतना ही नहीं, अगर कोई व्यक्ति तीन से अधिक बार गंदगी फैलाते हुए नजर आता है तो उसका नाम निगम के रिकॉर्ड में ब्लैकलिस्ट कर दिया जाएगा. इसके साथ ही निगम के कर्मचारी उस व्यक्ति पर विशेष नजर रखेंगे.

घर या दुकान में रखेंगे झाड़ू

इस योजना की खास बात यह भी है कि अगर गंदगी फैलाने वाला व्यक्ति झाड़ू लगाने से मना करता है या फिर वह निगम टीम से उलझता है तो उस स्थिति में निगम के कर्मचारी उससे सवाल जवाब नहीं करेंगे बल्कि उसकी दुकान या घर के अंदर झाड़ू रखकर चले जाएंगे. इसके बाद तब तक झाड़ू नहीं हटाई जाएगी, जब तक वह घर या दुकान के बाहर फैलाई गई गंदगी को साफ नहीं करता है. एक पहलू यह भी है कि अगर कोई व्यक्ति घर या दुकान के अंदर रखी झाड़ू सड़क पर फेंक देता है तो उससे तीन गुना अधिक जुर्माना वसूला जाएगा.

वर्जन

स्वच्छता के प्रति जनता की जागरुकता बेहद जरूरी है. जब तक जनता जागरुक नहीं होगी, तब तक शहर स्वच्छ नहीं हो सकता. इसे ध्यान में रखते हुए ही अब गंदगी फैलाने वालों से झाड़ू लगवाई जाएगी साथ ही उनसे जुर्माना भी वसूल किया जाएगा.

डॉ. इंद्रमणि त्रिपाठी, नगर आयुक्त