बिगबैंग के पहले क्या था संसार में? स्टीफन हॉकिंग ने किया खुलासा

आज से करीब 13.8 अरब साल पहले ब्रह्मांड बहुत छोटे से आकार से बढ़ना शुरु हुआ था। फिर बहुत ज्यादा तापमान और फोर्स के दम पर इसका आकार बढ़ना शुरु हुआ। इसके बाद अणुओं को आपस में मिलना शुरु हुआ। पहले उनका आकार बहुत बढ़ा और फिर उनका विघटन शुरु हुआ, जिससे तमाम तारा मंडल, ग्रह और आकाश गंगाएं अस्तित्व में आईं। यही बिगबैंग था, जिससे हमारा संसार बना और आजतक ब्रह्मांड का आकार धीरे धीरे बढ़ रहा है। पूरी दुनिया के वैज्ञानिक ब्रह्मांड के बारे में यही जानते हैं, लेकिन इस बिगबैंग के पहले क्या था या कहें कि दुनिया कैसी थी, इस पर अब तक वैज्ञानिक कुछ खास नहीं जान सके हैं और इस पर वैज्ञानिकों की बहस का कोई रिजल्ट नहीं निकल पाया है। इसी बीच वर्ल्ड फेमस वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग ने टीवी शो StarTalk पर खुलासा करते हुए बताया है कि बिगबैंग के पहले आखिर क्या हुआ करता था।

 

क्या बताया स्टीफन हॉकिंग ने

वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग ने इस शो के होस्ट और एस्ट्रोफिजीसिस्ट नील डिग्रास से बात करते हुए बताया कि बिगबैंग के पहले क्या था, इस बारे में मेरा यह कहना है कि वो जितना आसान था उतना ही ज्यादा कॉम्प्लेक्स था, क्योंकि वास्तव में बिगबैंग से पहले कुछ नहीं था। हॉकिंग ने कहा कि एल्बर्ट आइंसटाइन की जनरल थ्योरी ऑफ रिलेटीविटी के अनुसार स्पेस और टाइम ने साथ मिलकर दुनिया में स्पेस और समय का कभी न रुकने वाला चक्र बनाया है, लेकिन सच में वो बिल्कुल सपाट नहीं है बल्कि ऊर्जा और भौतिक पदार्थ के दबाव के कारण ये आपस में घूमा हुआ है। यहीं वजह है कि इसे समझ पाना आसान नहीं है।

जब ब्रह्मांड नहीं था,तब क्‍या था? स्‍टीफन हॉकिंग ने खोला राज,खुद सुनिए


वैज्ञानिकों ने खोजे 14 नए प्लैनेट और एक सुपर अर्थ, जहां हो सकता है पानी

स्टीफन हॉकिंग ने बताया, बिगबैंग के पहले 'समय' का भी अस्तित्व नहीं था

बिगबैंग के पहले की दुनिया को लेकर स्टीफन हॉकिंग ने एक काफी नया विचार इस रखा है जो चौंकाने वाला है। उनका कहना है कि बिगबैंग के पहले टाइम यानि समय का भी कोई अस्तित्व नहीं था। वो कहते हैं कि Einstein के सिद्धांत के मुताबिक ब्रह्मांड की उत्पत्ति के समय संसार में मौजूद सभी भौतिक पदार्थ और ऊॅर्जा बहुत ही छोटी जगहों पर केंद्रित थी, लेकिन उनकी यह थ्योरी बिगबैंग के पहले और बाद की कंडीशन के बीच कोई गणितीय लिंक नहीं बताती।

 

 

 

यह कंपनी बना रही है ऐसे टायर्स जो पैदा करेंगे ऑक्सीजन और कभी नहीं होंगे पंक्चर!

स्टीफन हॉकिंग की थ्योरीज दुनिया के लिए अचंभा

वैसे तो स्टीफन हॉकिंग हमारी दुनिया और हमारे भविष्य के बारे में इससे पहले भी बहुत कुछ बता चुके हैं। जैसे कि उनका मानना है कि कोई भी एलियन प्रजाति हम इसांनो को खत्म नहीं करेंगे, बल्कि विज्ञान द्वारा बनाया गया आर्टीफिशियल इंटेलीजेंस ही धरती पर हम इसांनों को रिप्लेस कर देगा। उनका तो यह भी कहना है कि इंसानों जल्दी से जल्दी इस धरती को छोड़ देना चाहिए। स्टीफन हॉकिंग के लॉजिक्स भले ही कई बार आम लोगों को समझ नहीं आते हैं, लेकिन वैज्ञानिक उनके दिमाग का लोहा मानते हैं। वर्तमान समय के Einstein पुकारे जाने वाले दुनिया के इस महान साइंटिस्ट की 14 मार्च 2018 को 76 साल की उम्र में ब्रिटेन के कैम्ब्रिज में मौत हो गई। बता दें वो साल 1963 में मोटर न्यूरोन बीमारी से ग्रसित हो गए थे, तब से वो व्हील चेयर पर ही अपनी जिंदगी बिता रहे थे।

एक बार Kiss करने से मुंह में समा जाते हैं 8 करोड़ बैक्टीरिया! यह जानकर क्या प्यार करना छोड़ देंगे?

Posted By: Chandramohan Mishra

International News inextlive from World News Desk