- प्रेमी संग रह रही थी, सूचना पर पुलिस ने नासिक में दी थी दबिश

- मृत महिला के बारे में जानकारी करने में जुटी पुलिस

बाह (आगरा)। पिता ने जिस बेटी को मृत मान अंतिम संस्कार कर दिया वह नासिक में जिंदा मिल गई। प्रेमी के साथ उसे पुलिस ने बरामद कर लिया। अब बड़ा सवाल यह है कि जिसका अंतिम संस्कार हुआ वह युवती कौन थी? इस सवाल ने फिलहाल राजाखेड़ा पुलिस को उलझाकर रख दिया है।

नौ जुलाई को युवती लापता
राजाखेड़ा की रहने वाली 20 वर्षीय युवती और उसका भाई बाह के एक गांव में रह रहे थे। नौ जुलाई को युवती लापता हो गई। भाई ने पास के ही एक गांव निवासी युवक पर भगा ले जाने का आरोप लगाते हुए भदरौली थाने में मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस आरोपित की तलाश में जुटी हुई थी। इसी बीच 13 जुलाई को राजाखेड़ा के खुडि़या मार्ग पर एक महिला का शव मिला। उसकी गर्दन पर काटे जाने के निशान थे। परिजन पहुंचे और उन्होंने युवती की शिनाख्त कर ली। पुलिस ने शव परिजनों के सुपुर्द किया और परिजनों ने उसका अंतिम संस्कार कर दिया। बाह और राजाखेड़ा पुलिस ने संयुक्त रूप से अपहरण में नामजद आरोपित की तलाश में राजस्थान, गुजरात और महाराष्ट्र में तलाश की। पुलिस को पता चला कि आरोपित नासिक में छिपा हुआ है। बीते शनिवार को पुलिस वहां पहुंची तो दंग रह गई। जिस युवती के शव का परिजन अंतिम संस्कार कर चुके थे, वह जिंदा थी और प्रेमी संग रह रही थी। सूचना पर पहुंची बाह पुलिस दोनों को ले आई। अलग-अलग पूछताछ की।

आरोपित युवक को जेल भेज दिया गया है। वहीं युवती का मेडिकल कराया जा रहा है। यह भी जांच की जा रही है कि जिस युवती का परिजनों ने अंतिम संस्कार दिया, वह कौन थी।

प्रदीप कुमार पांडेय, इंस्पेक्टर बाह

 

सवाल मांग रहे जवाब

- परिजनों ने किस आधार पर की थी मृतका की शिनाख्त।

- वे बेटी का चेहरा व शरीर को पहचान क्यों नहीं सके।

- पुलिस ने किस आधार पर शव परिजनों की सुपुर्दगी में दिया।

- अब पुलिस की जांच की दिशा क्या होगी।

- कैसे पता चलेगा कि जिसका अंतिम संस्कार हुआ वह कौन थी

Posted By: Inextlive