i live

- रेल हादसे के बाद रेलवे स्टेशन पर सन्नाटा तो पैसेंजर्स में दिखा भय

- लगातार हो रहे रेल हादसों से आशंकित दिखे लोग

GORAKHPUR: कलिंग उत्सर्ग एक्स्प्रेस हादसे के बाद बुधवार को औरेया में कैफियात एक्सप्रेस रेल हादसे के बाद रेल यात्रा को लेकर पैसेंजर्स आशंकित हो गए हैं. घटना के बाद गोरखपुर रेलवे स्टेशन पर पहुंचे दैनिक जागरण आई नेक्स्ट रिपोर्टर ने जब पैसेंजर्स से बात की तो उन्होंने अपनी चिंता जाहिर की. ज्यादातर का कहना था कि लगातार रेल हादसों से उन्हें ट्रेन जर्नी में डर लगने लगा है लेकिन कोई विकल्प नहीं होने के कारण वे इसी पर डिपेंड हैं. उधर, हादसे के बाद कई ट्रेंस रूट बदलकर चलाई जा रही हैं जिससे भी पैसेंजर्स की दिक्कत बढ़ गई है.

भगवान का नाम लेकर रहे सफर

ऐसे तो बुधवार को रेलवे जंक्शन पर काफी सन्नाटा पसरा रहा. हालांकि जो पैसेंजर्स मिले वे भी सुरक्षा और संरक्षा के रेल प्रशासन के दावों पर खुश नजर नहीं आए. रिपोर्टर ने लोगों से बात की तो ज्यादातर का कहना था कि लगातार हो रहे रेल हादसों से ट्रेन जर्नी को लेकर मन में डर सा बैठ गया है. कुछ पैसेंजर्स तो सफर से पहले भगवान का नाम जपते मिले.

बदले रूट से चलीं ट्रेंस, बढ़ी मुश्किल

वहीं कैफियात एक्सप्रेस हादसे के बाद बुधवार को यहां से होकर जाने वाली करीब दर्जन भर ट्रेंस का रूट डायवर्ट कर दिया गया. जिससे पैसेंजर्स को काफी दिक्कतों का भी सामना करना पड़ा. रूट बदलने से जहां पैसेंजर्स का सफर लंबा हो गया, वहीं पहले से टिकट करा चुके लोगों को उनके गंतव्य तक ट्रेन ना जाने पर टिकट कैंसिल कराना पड़ गया.

इन ट्रेंस का बदला रूट

- 14005 सीतामढ़ी-आनंद विहार लिच्छवी एक्सप्रेस कानपुर अनवरगंज-फरुर्खाबाद-टुंडला-गाजियाबाद के रास्ते चलाई गई.

- 15707 कटिहार-अमृतसर एक्सप्रेस लखनऊ-मुरादाबाद-गाजियाबाद के रास्ते चलाई गई.

- 19038 गोरखपुर-बांद्रा एक्सप्रेस कानपुर सेंट्रल-फरुर्खाबाद-मथुरा-अछनेरा के रास्ते चलाई गई.

- 12565 दरभंगा-नई दिल्ली एक्सप्रेस लखनऊ-मुरादाबाद-गाजियाबाद के रास्ते चलाई गई.

- 12553 वैशाली एक्सप्रेस लखनऊ-मुरादाबाद-गाजियाबाद के रास्ते चलाई गई.

- 12225 आजमगढ़-दिल्ली लखनऊ-मुरादाबाद-गाजियाबाद के रास्ते चलाई गई.

- 12555 गोरखधाम एक्सप्रेस लखनऊ-मुरादाबाद-गाजियाबाद के रास्ते चलाई गई.

- 12595 गोरखपुर-आनंद विहार टर्मिनस हमसफर एक्सप्रेस लखनऊ-मुरादाबाद-गाजियाबाद के रास्ते चलाई गई.

- 19037 बांद्रा टर्मिनस-गोरखपुर अछनेरा-मथुरा-फरुर्खाबाद-कानपुर अनवरगंज के रास्ते चलाई गई.

- 12566 बिहार संपर्क क्रांति एक्सप्रेस गाजियाबाद-मुरादाबाद-लखनऊ के रास्ते चलाई गई.

- 15708 अमृतसर-कटिहार एक्सप्रेस गाजियाबाद-मुरादाबाद-लखनऊ के रास्ते चलाई गई.

कोट्स

अब तो ट्रेन का सफर भी सुरक्षित नहीं रह गया गया. आए दिन सुनने में आता है कि कोई ना कोई ट्रेन हादसे का शिकार हो गई. ऐसे में अब भगवान का नाम लेकर ही ट्रेन में सफर करना मजबूरी है.

- शालू, पैसेंजर

जब ट्रेंस का यह हाल है तो यहां किस आधार पर मेट्रो और हाई स्पीड बुलेट ट्रेन चलाने की बात कही जा रही है. सफर के दौरान परिवार के लोग तब तक चिंतित रहते हैं जब तक ट्रेन सकुशल पहुंच ना जाए. संरक्षा को लेकर रेलवे पूरी तरह नाकाम साबित हो रहा है.

- निधी, पैसेंजर