UK व India के joint supervision में मिलेगा पढ़ाई का chance
इंडिया में फस्र्ट टाइम कॉमनवेल्थ स्प्लीट साइट डॉक्टरल स्कॉलरशिप की शुरुआत की जा रही है. यूके में सेशन की शुरुआत सेप्टेंबर-अक्टूबर 2014 से होगी. इसके बाद स्कॉलर्स को यूके यूनिवर्सिटी में एक साल रहकर रिसर्च करने का मौका मिलेगा. इसके तहत पीएचडी में एडमिशन तो कंट्री में लेना होगा और पूरी पढ़ाई कंट्री व यूके सुपरवाइजर के ज्वाइंट सुपरविजन में करने का मौका मिलेगा.

Doctors भी हो सकते हैं शामिल
इस स्कॉलरशिप में अक्टूबर-2013 तक सेकेंड क्लास ऑनर्स स्टैैंडर्ड के साथ फस्र्ट डिग्र्री, सेकेंड क्लास डिग्र्री के साथ ही पीजी क्वालीफिकेशन और क्लिनिकल स्कील डेवलप करने के उद्देश्य से मेडिसीन व डेंटिस्ट्री के फिल्ड से क्वालिफाइड डॉक्टर्स (1 अक्टूबर 2004 से 30 सितंबर 2009 के बीच के) भी शामिल हो सकते हैं.

For your Information

ऐसे करना है apply

  • अप्लीकेशन कमिशन के इलेक्ट्रानिक एप्लीकेशन सिस्टम (ईएएस) के जरिए सब्मिट करना है.
  • इसके लिए वेबसाइट पर एक लिंक द्धह्लह्लश्च://ड्ढद्बह्ल.द्य4/ष्ह्यष्ह्वद्म-ड्डश्चश्चद्य4 भी है, जिसके जरिए फॉर्म डाउनलोड किया जा सकता है.
  • इसे इलेक्ट्रानिकली फील कर 3 कॉपी प्रिंट करने के बाद वीसी या एग्जीक्यूटिव हेड से साइन करवाकर सभी डॉक्यूमेंट्स के साथ यूजीसी को जमा करना है.
  • सेलेक्ट होने के बाद कंडिडेट्स को 3 दिसंबर तक यूके में ईएएस एप्लीकेशन भी तैयार करना होगा.

'पोस्ट डॉक्टरल फेलोशिप के लिए हाई क्वालिटी के पेपर्स होने चाहिए. इसके लिए एज लिमिट 40 साल है, बेहतर क्वालिटी के स्टूडेंट्स ही इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं.'
-डीएन महतो, रजिस्ट्रार, कोल्हान यूनिवर्सिटी

Report by : goutam.ojh@inext.co.in

National News inextlive from India News Desk