- 29 मार्च से 5 अप्रैल तक चलेगा नवरात्रि उत्सव

- 29 मार्च को एक साथ होगी प्रथमा और द्वितीया

मेरठ. देवी आस्था का पर्व चैत्र नवरात्रि इस बार 8 दिन रहेगा. शुरुआत 29 मार्च को होगी और उस दिन प्रतिपदा के साथ द्वितीया की तिथि भी रहेगी. वहीं 5 अप्रैल को रामनवमी मनाई जाएगी.

-2015-16 में भी चैत्र समापन नवरात्र आठ ही दिन के थे.

-इसबार नवमी पर पुष्य नक्षत्र योग रहेगा. इसलिए अत्याधिक शुभ हैं, क्योंकि

-इसी दिन रामनवमी भी है. भगवान राम का जन्म भी नवमी पर पुष्य नक्षत्र में ही हुआ था.

-चैत्र नवरात्र के दिन गुड़ी पड़वा से विक्रम नवसंवत्सर 2074 का भी शुभारंभ है.

-29 मार्च को रेवती नक्षत्र में चैत्र शुक्ल पक्ष प्रतिपदा की शुरुआत होगी.

-नवरात्रि की प्रतिपदा और द्वितीया तिथि एक ही दिन रहेगी.

-28 मार्च को सुबह 8.33 बजे तक अमावस्या ही रहेगी.

-लेकिन अमावस्या तिथि सूर्योदय के साथ 29 मार्च से मानी जाएगी.

- 29 मार्च को प्रतिपदा तिथि सुबह 7 बजे तक रहेगी. इसके बाद द्वितीया तिथि का आगमन हो जाएगा.

-इस वजह से प्रथमा (प्रतिपदा) और द्वितीया एक ही दिन रहेगी.

-घट स्थापना भी सूर्योदय से लेकर सुबह 7 बजे तक करना श्रेयस्कर रहेगा.

(पंडित अरुण शास्त्री, श्रीधर त्रिपाठी, दीपक शर्मा से बातचीत पर आधारित.)