ऐसा होने पर कोई भी टीचर या स्टाफ अगर समय से पहले कैंपस से बाहर जाने की कोशिश करेंगे तो प्रिंसिपल के चेंबर में लगे कंप्यूटर सिस्टम में उस पर्सन का नाम फ्लैश होने लगेगा और सिस्टम ब्लिंक करने लगेगा. ऐसा होने पर उस पर्सन की पहचान हो जाएगी और उन्हें बाद में कैंपस से बाहर जाने का कारण पूछा जाएगा.

को-ऑपरेटिव कॉलेज में 5 से biometric system काम करेगा
सिटी स्थित को-ऑपरेटिव कॉलेज में 5 अप्रैल से बायोमेट्रिक सिस्टम एक्टिव हो जाएगा. कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ आरके दास ने बताया कि इसके लिए सारी तैयारियां हो चुकी हैं. कोल्हान यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन ने लास्ट इयर ही सभी कॉलेजेज को इंस्ट्रक्ट किया था कि बायोमेट्रिक सिस्टम एक्टिव किया जाए ताकि कॉलेज के टीचर्स और स्टाफ के अटेंडेंस पर नजर रखी जा सके. बार-बार यह शिकायत मिलती थी कि टीचर्स और स्टाफ समय पर नहीं आते और कैंपस से जल्दी चले जाते हैं. इस सिस्टम से इस सारे स्टाफ्स पर नजर रखा जा सकेगा.

Report by: amit.choudhary@inext.co.in

National News inextlive from India News Desk