आगरा. थाना सदर एरिया इंद्रापुरम में युवक मंगेतर के सीने में गोली मारने के बाद खुद की कनपटी पर फायर कर मौत की नींद सो गया. घटना ने एरिया को हिला कर रख दिया. फायर की आवाज सुन परिजन कमरे की तरफ दौड़े लेकिन दरवाजा अंदर से लॉक था. दरवाजे के बाहर खून की लाइन खिंचती गई. यह देख परिजनों को अनहोनी का अहसास हुआ. दरवाजा तोड़ा तो दोनों के शव पड़े थे. लड़की कुर्सी पर मृतावस्था में बैठी थी लड़का जमीन पर पड़ा था. पास ही लाइसेंसी रिवाल्वर भी पड़ा था. सूचना पर एसपी सिटी सदर, ताजगंज के फोर्स के साथ पहुंच गए.

हो गया था संबंध तय

अलीगढ़ के जोहराबाग निवासी 22 वर्षीय नदीम पुत्र असलम का बैल्ट के बक्कल का कारखाना है. उसकी सगाई दो महीने पहले थाना सदर के इंद्रापुरम कॉलोनी निवासी 21 वर्षीय रुखसार उर्फ हिना पुत्री निजामुद्दीन से हुई थी. दोनों के बीच मोबाइल से बातों का दौर शुरु हो गया. लेकिन पता नहीं बीच में ऐसा क्या हुआ कि दोनों में मतभेद हो गया. इसको लेकन नदीम तनाव में रहने लगा.

घर पर आकर मारी गोली

एक महीने पहले हिना ने शादी से इनकार कर दिया लेकिन नदीम उसे मनाने में लगा था. एक महीने से वह उसे मना रहा था वह मानने को तैयार नहीं थी. रविवार को नदीम ने अपने समीप रहने वाले दोस्त सलमान को अपने साथ लिया. उसने दोस्त से कहा कि आगरा में हिना से बात करने जाना है. दोस्त भी उसके साथ हो लिया. नदीम अपनी अपाचे बाइक से हिना के घर 12 बजे आया.

कमरा बंद कर मार ली गोली

उसने कुछ समय तक परिजनों से बात की इसके बाद वह हिना के साथ बैठक वाले कमरे में चला गया. दरवाजा अंदर से बंद कर लिया. दो बजे करीब परिजनों को कमरे के अंदर से शोर शराबे की आवाज आने लगी. उनको लगा दोनो में झगड़ा हो गया. इसी के बाद 2:10 पर एक फायर की आवाज आई कुछ सेकेंड बाद दूसरे फायर की आवाज आई. आवाज सुन परिजनों ने दरवाजा खटखटाया लेकिन वह लॉक था. आस पास के लोग पहुंच गए. दरवाजा तोड़ कर देखा तो हिना का शव कुर्सी पर बैठी हुई अवस्था में था जबकि नदीम का शव उसके पैरों के पास पड़ा था. समीप ही रिवाल्वर भी पड़ा था.