कानपुर। नासा के सेंटर फॉर नियर-अर्थ ऑब्जेक्ट स्टडीज (CNEOS) के अनुसार, पांच क्षुद्रग्रह हमारे ग्रह के पास से गुजरने के लिए बिल्कुल तैयार हैं, अंतरिक्ष एजेंसी ने इसकी पुष्टि की है। नासा के सेंटर फॉर नियर-अर्थ ऑब्जेक्ट स्टडीज (CNEOS) की वेबसाइट के अनुसार, आज पृथ्वी के करीब से कुल पांच नियर-अर्थ ऑब्जेक्ट या NEOS गुजरेंगे। पांच में से, एक 108-फुट चौड़ा 2020 केके 7 क्षुद्रग्रह है जो पृथ्वी से भारतीय समयानुसार दोपहर में गुजरेगा। क्षुद्रग्रह 34,000 मील प्रति घंटे की रफ्तार से गुजरेगा। 11 फीट चौड़ा 2020 केडी 4 12,000 मील प्रति घंटे की रफ्तार से भारतीय समयानुसार शाम 6.17 बजे गुजरने वाला है। सबसे बड़े क्षुद्रग्रह को 2020 केएफ नाम दिया गया है और यह आकार में 144 फुट है। 2020 KF 24,000 मील प्रति घंटे या 38,600 किमी प्रति घंटे की रफ़्तार से भारतीय समयानुसार रात 9.30 बजे गुजरेगा। 2020 केएफ 105 फुट चौड़ा है और यह 11,000 मील प्रति घंटे की गति से पृथ्वी के करीब से गुजरेगा।

नियर-अर्थ ऑब्जेक्ट्स ऑब्जर्वेशन प्रोग्राम क्या है?

नासा के अनुसार, 'NEO ऑब्जर्वेशन प्रोग्राम का वर्तमान कांग्रेस द्वारा निर्देशित उद्देश्य, NEO की अनुमानित संख्या का कम से कम 90 प्रतिशत का पता लगाना, ट्रैक करना और उनकी विशेषता बताना है, जो आकार में 140 मीटर से लेकर एक छोटे फुटबॉल स्‍टेडियम के बराबर हो सकते हैं। यह आगे बताता है, 'इस आकार की वस्तुएं बड़े पैमाने पर तबाही की अपनी क्षमता के कारण पृथ्वी के लिए खतरा व चिंता का विषय हैं, इसलिए वैश्विक खोज प्रयासों का ध्यान केंद्रित करना जरूरी है। हालांकि अगले 100 वर्षों में 140 मीटर से बड़ा कोई ज्ञात क्षुद्रग्रह जिसके पृथ्वी से टकराने की आशंका है, अनुमानित 25,000 एनईओ में से आधे से भी कम, जो 140 मीटर और आकार में बड़े हैं अभी तक खोजे जा चुके हैं।'

Posted By: Inextlive Desk

International News inextlive from World News Desk