-कंसल्टेंट की मदद से बनेगी कुंभ तैयारियों में तेजी लाने की रणनीति

-हर कदम बिखेरी जाएगी कुंभ की छटा, तमाम योजनाओं पर बनी सहमति

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: कुंभ के आकर्षण में चार चांद लगाने के साथ पर्यटकों और तीर्थयात्रियों को सुविधाएं मुहैया कराने की कार्ययोजना मेला प्रशासन ने बना ली है. मेले में देश की राष्ट्रीय सांस्कृतिक विविधता का दर्शन कराने के साथ उन्हे सूचना तकनीक के आधुनिक संसाधनों से लैस किया जाएगा. शहर की महत्वपूर्ण ऐतिहासिक इमारतों, तीर्थ और इतिहास को पूरी विभिन्न तरीकों से दुनिया के सामने पेश किया जाएगा. इसी मुद्दे पर मंगलवार को मेला अधिकारी विजय किरण आनंद ने तमाम विभागीय अधिकारियों के साथ रणनीति पर चर्चा की.

इनके जरिए होगी ब्रांडिंग

बैठक में कहा गया कि अगले माह के अंत तक नगर में पेंट माई सिटी के कार्य दिखने लगेंगे. कुंभ में एक स्थाई लेजर शो की तैयारी पूरी कर ली गई है. मेलाधिकारी ने कहा कि कंसल्टेंट के साथ अधिकारी कुंभ की तैयारियों में तेजी की रणनीति बना लें. इतना ही नही बैठक में अन्य योजनाओं पर चर्चा कर उनके बारे में जानकारी दी गई.

यह होगा खास

-रास्तों ओर महत्वपूर्ण स्थलों का ज्ञान कराने के लिए 300 से अधिक डिजिटल साइनेज लगेंगे.

-कुंभ के विहंगम दृश्य के लिए हेली टूरिज्म की कार्ययोजना शुरू हो गई है.

-किला, यमुना पुल, कैथड्रिल चर्च आदि इमारतों को फसाड लाइटिंग से सजाया जाएगा.

-टूरिस्ट प्लेस और धराहरों को जोड़ने के लिए टूरिस्ट वॉक सर्किट तैयार किया जा रहा है.

-प्रवेश मार्गो और मेला एरिया के भीतर भारतीय संस्कृति की थी पर गेट बनाए जाने हैं.

-कुंभ आधारित काफी टेबल बुक की रणनीति बन गई है.

-इवेंट कैलेंडर और कन्वेंशन पांडाल विकसित किया जाएगा.

-भारत के व्यंजनों की विविधता दर्शाने के लिए शहर में फूड कोर्ट कुंभ बनाया जाएगा.

-5 हजार काटेज की टेंट सिटी बसाई जानी है.

-गाइड, ड्राइवर्स, दुकानदारो को वर्कशाप के जरिए अपडेट किया जाएगा.

-कुंभ की ब्रांडिंग का काम अगले माह से शुरू होने जा रहा है.

गठित हो गई है टीम

मेलाधिकारी ने बताया कि सभी कार्यो के लिए आधुनिक कंसल्टेंट की टीम गठित कर दी गई है. विभ्ज्ञागीय अधिकारियों को इस टीम से जोड़ते हुए समन्वय बनाकर काम मे तेजी लानी होगी. एयरपोर्ट के पास की दीवार और नगर के फ्लाईओवरों पर पेंट माई सिटी का काम मई से प्रारंभ होगा. उन्होंने कहा कि सभी कार्यो की शुरुआत इस माह के अंत या मई से हो जाएगी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की दिव्य और भव्य कुंभ की मंशा को पूरा करने में कोई कसर नही छोड़ी जाएगी. बैठक में पर्यटन, संस्कृति, सूचना, संस्कृति मंत्रालय, सिविल डिफेंस समेत तमाम विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे.