पटना (ब्यूरो)। पूर्व केंद्रीय मंत्री, राज्यसभा सदस्य और प्रसिद्ध अधिवक्ता राम जेठमलानी बिहार में शैक्षणिक संस्थानों का विकास चाहते थे।  वे चाहते थे कि शैक्षणिक संस्थान ज्यादा से ज्यादा मजबूत हों। इस तरह बिहार से जेठमलानी का विशेष लगाव था यही वजह रही कि उन्होंने सांसद निधि से समस्तीपुर के दो शैक्षणिक संस्थानों को लाखों रुपए दिए थे। उजियारपुर के चंदौली स्थित महंत नारायण दास महाविद्यालय के अध्यक्ष और पूर्व विधायक दुर्गा प्रसाद ङ्क्षसह जिले के शैक्षणिक संस्थानों के लिए उनके किए गए प्रयासों को याद करते हैं। वे उनसे कई बार मिल चुके हैं। कहते हैं कि जेठमलानी के निधन से उन्हें व्यक्तिगत क्षति हुई है। उजियारपुर शहर के लॉ कॉलेज के भवन निर्माण के लिए 12 लाख रुपए दिए थे। 2018-19 सत्र में उन्होंने यह राशि उपलब्ध कराई थी।

आने का किया था वादा

पूर्व विधायक बताते हैं कि पिछले साल उन्होंने कॉलेज के विकास के लिए आर्थिक मदद मांगी। उन्होंने तुरंत 30 लाख रुपए की अनुशंसा कर दी। साथ ही अगले साल 50 लाख रुपए सांसद निधि से कॉलेज को देने का आश्वासन दिया था। वादा किया था कि कॉलेज कैंपस में बन रही सड़क का निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा तो इसका उद्घाटन करने जरूर आएंगे। सड़क निर्माण कार्य पूरा हो गया। परंतु, दुर्भाग्य से वे अब नहीं रहे। यह दुखद क्षण है।

जेठमलानी के नाम पर गेस्ट हाउस

दुर्गा प्रसाद ङ्क्षसह ने बताया कि उनके द्वारा दी गई राशि से कॉलेज के भवन और सड़क का निर्माण कार्य पूरा हो गया है। सड़क का नामकरण राम जेठमलानी पथ और अतिथि गृह का नाम राम जेठमलानी अतिथि गृह किया जाएगा। यही उनके लिए श्रद्धांजलि होगी।

2016 में बने थे राज्यसभा सदस्य

ज्ञात हो कि जेठमलानी लालू प्रसाद की पार्टी राजद से राज्यसभा सदस्य बने थे।  उन्होंने चर्चित चारा घोटाला में सुप्रीम कोर्ट में लालू का केस उन्होंने लड़ा था। अगस्त 2003 में पाकिस्तानी दौरे पर गए भारतीय टीम में लालू प्रसाद के साथ जेठमलानी भी शामिल थे। तब वह भारत में बने कश्मीर समिति के प्रमुख की हैसियत से पाकिस्तान गए थे। राजद से 2016 में राज्यसभा सदस्य बनने के बाद जेठमलानी कई बार बिहार आए।

राजद का झंडा झुका

पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी एवं नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने शोक जताया है। राजद कार्यालय में प्रदेश अध्यक्ष डॉ। रामचंद्र पूर्वे की अध्यक्षता में शोक सभा हुई और पार्टी के झंडे को आधा झुका दिया गया। शोक संदेश में राजद नेताओं ने जेठमलानी को प्रख्यात अधिवक्ता, सामाजिक एवं राजनीतिक कार्यकर्ता और स्थापित नेता बताया है। राबड़ी ने कहा कि उनके निधन से राजद के साथ देश को भी बड़ी क्षति हुई है।

सीएम ने जताया गहरा शोक

सीएम नीतीश कुमार ने राम जेठमलानी के निधन पर गहरा शोक जताया है। उन्होंने शोक संदेश में कहा कि राम जेठमलानी एक राजनेता के साथ-साथ देश के बेहतरीन वकीलों में भी गिने जाते थे। उनके निधन से सामाजिक, राजनीतिक एवं न्यायिक क्षेत्र में अपूरणीय क्षति हुई है।

patna@inext.co.in

Posted By: Vandana Sharma

National News inextlive from India News Desk