शहीद के परिवार को एक करोड़ रुपये देने की मांग की, हर संभव मदद दिए जाने का दिया आश्वासन

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: 12 फरवरी को प्रयागराज पहुंचने से पहले लखनऊ में ही रोके जाने के बाद शनिवार को सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव शनिवार को प्रयागराज पहुंचे. जहां वे प्रोटोकॉल तोड़ कर एयरपोर्ट से सीधे पुलवामा हमले में शहीद हुए जवान महेश यादव के मेजा स्थित आवास पर पहुंच गए.

परिजनों को ढांढस बंधाया

शहीद के आवास पर पर पहुंचने के बाद अखिलेश यादव ने उनके परिजनों से बातचीत की, ढांढस बंधाया और हर तरह की मदद का आश्वासन दिया. उन्होंने कहा कि दु:ख की इस घड़ी में समाजवादी पार्टी उनके साथ है. उन्होंने आर्थिक मदद करने के साथ ही प्रदेश सरकार से शहीद जवान के परिवार को एक करोड़ रुपये देने की मांग की.

प्रोटोकाल में नहीं था मेजा

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को शनिवार को प्रयागराज पहुंचने के बाद सबसे पहले 12 फरवरी को लाठीचार्ज में घायल हुए छात्र नेताओं व छात्राओं से मिलना था. लेकिन एयरपोर्ट पहुंचने के बाद उन्होंने अचानक प्रोग्राम चेंज कर दिया. प्रोटोकाल को तोड़ कर वे सबसे पहले मेजा स्थित शहीद जवान के मेजा क्षेत्र के टुडि़हार गांव स्थित घर पर पहुंच गए. जबकि पूर्व मुख्यमंत्री का प्रोटोकॉल शहीद के घर जाने का नहीं था.

बच्चों को गोद में उठाया लिया

टुडि़हार गांव पहुंचकर अखिलेश यादव ने शहीद जवान महेश यादव के चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि अर्पित की. अखिलेश यादव ने शहीद के दोनों बच्चों समीर और साहिल को बुलाकर गोद में बैठाया और उनसे स्कूल का नाम और पढ़ाई के बारे में पूछा. इस दौरान वे बेहद भावुक दिखे. उन्होंने शहीद के बच्चे समीर एवं साहिल, पिता राज कुमार यादव, छोटे भाई अमरेश यादव, पत्नी संजू देवी व मां शांति देवी से बात की. हर संभव मदद का आश्वासन दिया. इस मौके पर सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम, वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मंत्री इंद्रजीत सरोज, पूर्व मंत्री राम आसरे विश्वकर्मा, पूर्व मंत्री एवं विधायक शैलेंद्र यादव, शिक्षक सभा के प्रदेश अध्यक्ष मान सिंह, पूर्व मंत्री व विधायक उज्ज्वल रमण सिंह, विनय कुशवाहा, पूर्व मंत्री ओम प्रकाश सिंह, पूर्व विधायक सत्यवीर मुन्ना, अनिल यादव, संजय मौर्या, रवींद्र यादव, पूर्व विधायक प्रशांत सिंह, जिलाध्यक्ष कृष्णमूर्ति यादव, बाबू नरेंद्र सिंह, लल्लन सिंह, योगेंद्र प्रताप सिंह, विधानसभा अध्यक्ष पप्पू यादव आदि मौजूद रहे.