एसटीएफ व सिविल लाइंस पुलिस ने संगम क्षेत्र से पकड़ा

इसके खिलाफ सिविल लाइंस, कैंट व जार्ज टाउन थाने में दर्ज हैं कई मामले

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: सीएमपी डिग्री कालेज छात्रसंघ का पूर्व अध्यक्ष अजीत यादव सोमवार को एसटीएफ के हत्थे चढ़ गया. एसटीएफ व सिविल लाइंस थाने की पुलिस ने पूर्व अध्यक्ष को संगम एरिया से गिरफ्तार किया है. अजीत पर एसएसपी की तरफ से 25 हजार रुपये का इनाम घोषित था. लखनऊ एसटीएफ ने छात्र नेता के नंबरों को सर्विलांस पर लगा रखा था. लखनऊ से प्रयागराज पहुंचे पर एसटीएफ और सिविल लाइंस पुलिस ने अजीत को दबोच लिया. मूल रूप से गाजीपुर के अजीत यादव पर एक दर्जन से अधिक मामले दर्ज हैं.

सीएमपी का है पूर्व अध्यक्ष

एक पूर्व सपा विधायक के करीबियों में गिना जाने वाला अजीत यादव सीएमपी डिग्री कॉलेज छात्रसंघ का अध्यक्ष रह चुका है. अजीत पर जार्जटाउन में 7, थाना सिविल लाइन्स में एक और कैंट थाने में एक हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज है. इविवि और सीएमपी छात्रसंघ चुनाव के दौरान बमबाजी, फाय¨रग और बवाल के बाद छात्रनेता अभिषेक सिंह सोनू, अभिषेक माइकल और अजीत यादव पर 25-25 हजार का इनाम घोषित किया गया था. माइकल को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. वहीं अजीत की तलाश में दबिश दी जा रही थी.

थाने पर जुटी समर्थकों की भीड़

जैसे ही पूर्व अध्यक्ष की गिरफ्तारी की सूचना उसके समर्थकों तक पहुंची थाने पर भीड़ जमा हो गई. सिविल लाइंस पुलिस अजीत को कोचिंग संचालक को धमकी व रंगदारी मांगने के मामले में तलाश रही थी. इंस्पेक्टर सिविल लाइंस शिवमंगल सिंह के मुताबिक लखनऊ से भागकर अजीत प्रयागराज आया था. तभी एसटीएफ को उसकी यहां आने की भनक मिली. सिविल लाइंस, कैंट में दर्ज चार मुकदमों में पुलिस ने रिमांड लिया है.