- नई दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में निधन

- रामविलास पासवान के सबसे छोटे भाई थे

patna@inext.co.in

PATNA: समस्तीपुर के लोजपा के सांसद रामचंद्र पासवान का रविवार को नई दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में निधन हो गया. वे 57 वर्ष के थे. 11 जुलाई को दिल का दौरा पड़ने के बाद उन्हें अस्पताल में दाखिल कराया गया था. प्रारंभिक इलाज के बाद उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था. इस दौरान उनकी सेहत में लगातार उतार-चढ़ाव हो रहा था. तीन दिन पहले कुछ देर के लिए रामचंद्र की आंखें खुली तो परिवार के लोगों की मायूसी थोड़ी कम हुई. लेकिन, उसके बाद सेहत बिगड़ती चली गई. दोपहर एक बजकर 24 मिनट में डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. लोकसभा में यह उनका चौथा टर्म था.

आज बांसघाट पर अंतिम संस्कार

लोजपा संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष एवं सांसद चिराग पासवान ने ट्वीटर के जरिए रामचंद्र पासवान के निधन की सूचना दी. चिराग के मुताबिक दिवंगत सांसद का अंतिम संस्कार सोमवार को पटना के बांसघाट पर किया जाएगा. दिन के 11 से तीन बजे पार्थिव शरीर को लोजपा के प्रदेश कार्यालय में अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा. वहां से तीन बजे बांसघाट के लिए शवयात्रा निकलेगी.

1999 में रोसड़ा से बने थे सांसद

रामचंद्र पासवान लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामविलास पासवान के सबसे छोटे भाई थे. वे दलित सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे. इस संगठन के निर्माण और विस्तार में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका थी. 1999 में रोसड़ा से सांसद बनने से पहले वे खगडि़या को-ऑपरेटिव बैंक के अध्यक्ष बने थे. बाद में समस्तीपुर से दो बार सांसद बने. लोकसभा में यह उनका चौथा टर्म था. वे उन गिने-चुने सांसदों में थे, जिनकी सांसद निधि का समय पर और सौ फीसदी उपयोग होता था. लोकसभा में उनकी उपस्थिति भी अच्छी थी. रामचंद्र पासवान का जन्म एक जनवरी 1962 को खगडि़या जिला के शहरबन्नी गांव में हुआ था. उन्हें दो पुत्र और एक पुत्री है. बड़े पुत्र प्रिंस राज राजनीति में सक्रिय हैं. प्रिंस 2015 का विधानसभा चुनाव लड़े थे. वह रामचंद्र पासवान के राजनीतिक उत्तराधिकारी हैं.

रामविलास का ट्वीट, मेरा सबसे छोटा प्यारा..

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने ट्वीट किया-मेरा सबसे छोटा प्यारा भाई रामचंद्र सांसद का निधन हो गया है. हृदयाघात के बाद पिछले कई दिनों से आरएमएल अस्पताल में भर्ती था. आज दोपहर 1. 24 पर अंतिम सांस ली.