देहरादून (ब्यूरो)। ओला कैब के पेमेंट के दौरान एक व्यक्ति के खाते से ठगों ने 95 हजार रुपये उड़ा दिए गए. पेमेंट के दौरान ओला एप अपग्रेड करने का झांसा देकर जालसाज ने उसे एक लिंक भेजा था. इस लिंक को खोलकर एप डाउनलोड करने के बाद उसके खाते से रकम निकाल गई. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

5 ट्रांजेक्शन में 95 हजार उड़ाए

पुलिस के अनुसार, संतोष सिंह निवासी बड़ोवाला ने 30 अगस्त को कहीं जाने के लिए ओला कैब बुक कराई थी. वहां पहुंचने के बाद उसने गूगल पे से पेमेंट करने की बात की. पेमेंट के लिए नंबर तलाशने के बाद उस नंबर पर फोन कर जब यह बताया गया कि वह ई-वॉलेट से भुगतान करना चाहता है तो फोन पर बात कर रहे शख्स ने बताया कि वह उसे एक लिंक भेजेगा, जिसे डाउनलोड करने के बाद उनका ओला एप अपग्रेड हो जाएगा. संतोष ने वैसा ही किया. इसके बाद उसके खाते से 5 बार में करीब 95 हजार रुपये निकाल लिए गए.

कस्टमर केयर से फोन आने पर मिली जानकारी

इस पेमेंट के बाद बैंक के कस्टमर केयर से उनके पास फोन आया, तब उन्हें खाते से हुए ट्रांजेक्शन के बारे में जानकारी मिली, जिसके बाद उन्होंने तत्काल डेबिट कार्ड ब्लॉक करा दिया. संतोष ने पुलिस को बताया कि ठग ने उनके मोबाइल नंबर का क्लोन भी तैयार कर लिया है, जिससे अगले दिन यानी 31 अगस्त को भी कई बार फोन आया था. इंस्पेक्टर ने बताया कि संतोष सिंह के बैंक खाते से हुए पेमेंट के संबंध में विस्तृत जानकारी जुटाई जा रही है. मामले में संबंधित बैंक से रकम ट्रांसफर करने वाले के साथ यह भी पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि संतोष को फोन कहां से आया था.

बचने के उपाय
- ऐप को प्ले स्टोर से ही अपग्रेड करें।
- किसी भी अनजान लिंक को क्लिक न करें।
- एसएमएस या व्हाट्सऐप से भेजे अपग्रेडेशन लिंक पर क्लिक न करें।
- मोबाइल पर बैंकिंग ऐप से ही लेन-देन करें।
- किसी लिंक पर क्लिक करने के बाद बैंक का यूजरनेम या पासवर्ड भूल कर भी टाइप न करें।
- मोबाइल में कोई भी ऐप्लीकेशन प्ले स्टोर से ही इंस्टाॅल और अपग्रेड करें।

dehradun@inext.co.in