dehradun@inext.co.in
DEHRADUN: फॉरेस्ट डिपार्टमेंट में नौकरी का झांसा देकर मां-बेटी ने एक युवक से डेढ़ लाख रुपए ठग लिये. पुलिस ने शिकायत नहीं सुनी तो पीडि़त ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया. कोर्ट के आदेश पर डालनवाला पुलिस ने मां-बेटी समेत 3 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है. पुलिस मामले की जांच में जुट गई है.

5 लाख रुपए में हुई थी डील
चंदर रोड, नई बस्ती निवासी पीडि़त लक्ष्य पंवार ने बताया कि 2018 में उनकी मुलाकात उसके साथ उत्तरांचल यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाली ज्योति तिवारी से हुई. ज्योति ने लक्ष्य उसे बताया कि उसकी मां की कई सरकारी विभागों में अच्छी पकड़ है. वे उसकी नौकरी लगवा देंगी. लक्ष्य झांसे में आ गया और ज्योति पंवार की मां लक्ष्मी तिवारी निवासी एमडीडीए कॉलोनी से मिला. लक्ष्मी ने बताया कि फॉरेस्ट डिपार्टमेंट में वैकेंसी निकली हैं, वह नौकरी लगवा देगी, बदले में 5 लाख रुपये की डिमांड की. लक्ष्य ने तीन किस्तों में उसे 1 लाख 65 हजार रुपए दे दिए. बाकी रकम जॉब मिलने के बाद देने की बात हुई.

फेक अप्वॉइंटमेंट लेटर थमाया
पीडि़त लक्ष्य पंवार ने बताया कि आरोपियों ने उसे फॉरेस्ट सॉफ्टवेयर एनालिस्ट का अप्वॉइंटमेंट लेटर दे दिया. वह फॉरेस्ट डिपार्टमेंट पहुंचा तो लेटर फेक निकला. बताया कि पुलिस से कंप्लेन की लेकिन सुनवाई नहीं हुई. इससे बाद कोर्ट की शरण ली. कोर्ट ने डालनवाला पुलिस को केस दर्ज करने का आदेश जारी किया. डालनवाला इंस्पेक्टर राजीव रौथाण ने बताया कि कोर्ट के आदेश पर लक्ष्मी तिवारी, उसकी बेटी ज्योति तिवारी व एक अन्य व्यक्ति शराफत के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है.