- थाने से छोड़े गए आरोपितों को दोबारा किया गया गिरफ्तार

- परिजनों ने जाम किया हाइवे तब हरकत में आई गीडा पुलिस

GORAKHPUR:

गीडा एरिया के एकला बाजार निवासी अभिषेक जायसवाल के दोस्तों को पुलिस जेल भेजेगी. पूर्व में थाने से छोड़े गए आरोपियों को पुलिस ने दोबारा अरेस्ट किया. दो घंटे तक पब्लिक के सड़क जाम करने पर रविवार देर रात पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया था. पुलिस अधिकारियों का कहना है कि पोस्टमार्टम में गला दबाकर मारने की बात सामने आई थी. सोमवार को गीडा पुलिस ने अभियुक्तों को गिरफ्तार किया. लेकिन मर्डर की वजह बताने से पुलिस अधिकारी कतराते रहे. एरिया में चर्चा है कि आशनाई के चक्कर में अभिषेक को जान गंवानी पड़ी. इस मामले में उसके पांच दोस्तों को मुल्जिम बनाया गया है.

घर से बुलाकर ले गए थे दोस्त

गीडा एरिया के एकला बाजार निवासी विजय जायसवाल के 20 साल के बेटे अभिषेक उर्फ गोलू जायसवल की शनिवार शाम मौत हो गई. वह अपने दोस्तों संग मोहल्ले के पास बागीचे में घूमने गया था. परिजनों ने उसे दोस्तों पर हत्या का शक जताया. कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पुलिस ने पूछताछ की. लेकिन उनको थाना से छोड़ दिया गया. रविवार शाम पोस्टमार्टम के बाद जब डेड बॉडी लेकर परिजन घर पहुंचे तो मर्डर की बात सामने आई.

जाम लगाने पर जागी पुलिस

आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर लोगों ने एकला के पास गोरखपुर-वाराणसी हाइवे जाम कर दिया. दो घंटे के जाम के बाद पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों ने कार्रवाई का आश्वासन दिया. पब्लिक के आक्रोश से हरकत में आई पुलिस ने अभिषेक के चचेरे भाई विपुल की तहरीर पर मोहल्ले के नीरज निषाद, आकाश निषाद, बृजेश निषाद, रवि निषाद और मोनू निषाद के खिलाफ मर्डर का मामला दर्ज किया. पूछताछ में आरोपियों ने मर्डर की वजह बता दी. लेकिन पुलिस जानकारी देने से बचती रही. पुलिस का दावा है कि आरोपित कहीं भागने के चक्कर में थे. उनको बाघागाड़ा के पास से अरेस्ट किया गया.

Posted By: Inextlive