- यूनिवर्सिटी हॉस्टल के सामने एक्सीडेंट हुए आक्रोशित

- वीआईपी मूवमेंट में सड़क निर्माण पर दब गए थे ब्रेकर

द्दह्रक्त्रन्य॥क्कक्त्र: यूनिवर्सिटी हॉस्टल के सामने ब्रेकर बनाने की मांग को लेकर स्टूडेंट्स ने जाम लगाया. शनिवार शाम एक्सीडेंट से आक्रोशित छात्र सड़क पर उतर गए. करीब डेढ़ घंटे तक छात्रों के प्रदर्शन करने के बाद पीडल्यूडी और प्रशासन के अधिकारियों ने ब्रेकर बनाने का आश्वासन दिया. इंस्पेक्टर कैंट के अस्थायी रूप से बैरियर लगाने पर छात्रों ने जाम हटाया. छात्रों के आंदोलन पर यूनिवर्सिटी चौक से लेकर मोहद्दीपुर तक वाहनों का आवागमन ठप रहा. इंस्पेक्टर कैंट ने बताया कि छात्रों को समझा-बुझाकर शांत कराया गया. पीडल्यूडी के अधिकारियों ने ब्रेकर बनाने का आश्वासन दिया है.

एक्सीडेंट होने पर आक्रोशित हुए छात्र

यूनिवर्सिटी हॉस्टल के सामने मोहद्दीपुर रोड पर ब्रेकर का निर्माण कराया गया था. शहर में राष्ट्रपति के प्रोग्राम को देखते हुए यूनिवर्सिटी हॉस्टल के सामने सड़क निर्माण से ब्रेकर दब गए. कार्यक्रम खत्म होने के बाद ब्रेकर नहीं बनवाया गया. वाहनों के तेज रफ्तार में गुजरने से हॉस्टल से निकलने वाले छात्र एक्सीडेंट के शिकार होने लगे. एक हफ्ते के भीतर चार से अधिक छात्र चोटिल हो गए. शनिवार शाम हॉस्टल जा रहे छात्र को चोट लगने से स्टूडेंट्स का गुस्सा भड़क गया. सैकड़ों छात्र सड़क पर आ गए.

कैंट इंस्पेक्टर के समझाने पर माने छात्र

सड़क जाम लगाकर छात्रों ने डीएम को बुलाने की मांग शुरू कर दी. यूनिवर्सिटी हॉस्टल के सामने छात्रों के प्रदर्शन से दोनों ओर वाहनों का जमावड़ा लग गया. अचानक छात्रों के आंदोलित होने से यूनिवर्सिटी प्रशासन भी सकते में आ गया. जाम लगने की सूचना पर इंस्पेक्टर कैंट रवि राय मौके पर पहुंचे. छात्रों ने डीएम और पीडल्यूडी के अधिकारियों को मौके पर बुलाने के बाद जाम हटाने की बात की. इंस्पेक्टर के प्रयास पर प्रशासन और पीडब्ल्यूडी के अधिकारी पहुंचे. ब्रेकर बनाने की मांग पूरी होने पर छात्रों ने जाम हटाया.

वर्जन

छात्रों को समझा-बुझाकर शांत कराया गया. अस्थायी रूप से ब्रेकर लगा दिया गया है. पीडब्ल्यूडी की तरफ से जल्द ब्रेकर बनवा दिया जाएगा.

रवि कुमार राय, इंस्पेक्टर कैंट