कानपुर। आईसीसी क्रिकेट वर्ल्डकप 2019 का फाइनल मुकाबला रविवार को इंग्लैंड बनाम न्यूजीलैंड के बीच लाॅर्ड्स में खेला गया। इस मैच में इंग्लैंड को सुपर ओवर के जरिए जीत मिली। 50-50 ओवर टाई रहने के बाद सुपर ओवर के जरिए मैच का परिणाम निकाला गया मगर जब ये भी टाई रहा तो इंग्लैंड को विजेता घोषित कर दिया गया। आईसीसी के नियम के मुताबिक, सुपर ओवर टाई रहने की स्थिति में उस टीम को विजेता घोषित किया जाता है जिसने सबसे ज्यादा बाउंड्री लगाई हों। ऐसे में इंग्लैंड को विश्व चैंपियन बना दिया गया।


गंभीर की नजर में बकवास है ये नियम
इंग्लैंड के इस तरह विश्व चैंपियन बनने के बाद सोशल मीडिया पर आईसीसी के इस नियम की काफी आलोचना हो रही। अालोचकों में पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर का नाम भी जुड़ गया। गंभीर इंग्लैंड के विश्वकप जीतने पर खुश नहीं हैं। 2011 विश्वकप में भारत की जीत में मुख्य भूमिका निभाने वाले गौती का मानना है कि किसी टीम को सिर्फ इसलिए वर्ल्डकप ट्राॅफी नहीं दे सकते, जिसने बाउंड्री ज्यादा लगाई हों। गंभीर ने अपने अफिशल टि्वटर अकाउंट पर इसको लेकर एक ट्वीट भी किया। गंभीर लिखते हैं, 'इस तरह का खेल समझ नहीं आता। क्रिकेट विश्व कप 2019 का विजेता उसे बनाया गया जिसने बाउंड्री ज्यादा लगाई। कितना बकवास है आईसीसी का ये नियम। ये मैच टाई होना चाहिए था। मैं इंग्लैंड और न्यूजीलैंड दोनों को बधाई देना चाहता क्योंकि दोनों ही विनर हैं।'


ऑस्ट्रेलियाई पेसर ने भी कहा- बदलो नियम
गंभीर के अलावा पूर्व ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ब्रेट ली भी इस नियम के बदलने के फेवर में हैं। ली ने भी ट्वीट किया कि, 'इंग्लैंड को बधाई और न्यूजीलैंड को हमदर्दी। मुझे कहना पड़ेगा कि विनर को चुनने का यह काफी हैरान करने वाला तरीका है। इस नियम को बदलना चाहिए।'

 

 

Cricket News inextlive from Cricket News Desk