फैक्ट फाइल

47 ओपेन कूड़ा अड्डा हैं शहर में

80 वार्डो से निकला कचरा आता है यहां

33 पोर्ट स्टेशन बनने थे शहर में

15 पोर्ट स्टेशन ही करीब बन पाए

--------

-आज भी सड़कों पर चल रहे हैं कूड़ा अड्डे, पोर्ट स्टेशन का नहीं है अता-पता

-गंदगी के बीच से नाक दबाकर गुजरना हो गया पब्लिक की मजबूरी

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: कुंभ के दौरान प्रयागराज ने सफाई का रिकॉर्ड बनाया था. आज उसी प्रयागराज में गंदगी की हालत बद से बदतर हो चुकी है. वीआईपी इलाका और वीआईपी रोड की बात ही छोड़ दीजिए. पूरे शहर में सफाई व्यवस्था की स्थिति काफी खराब है. गंदगी और कचरे से पूरा शहर बजबजा रहा है. आलम यह है कि सड़कों पर खुलेआम कचरा फेंका जा रहा है. इस हालत को देखकर पब्लिक पूछ रही है कि आखिर नगर निगम एडमिनिस्ट्रेशन को हुआ क्या है?

कहां गया करोड़ों का बजट

शहर को सुंदर और स्वच्छ बनाने के लिए नगर निगम एडमिनिस्ट्रेशन ने शहर के सड़कों पर चल रहे ओपेन कूड़ा अड्डों को खत्म कर पोर्ट स्टेशन बनाने का प्लान बनाया था. 47 ओपेन कूड़ा अड्डा की जगह 33 पोर्ट स्टेशन बनने थे. यहां कचरे को कॉम्पैक्टर में डालने के बाद कम्प्रेस करके बंसवार प्लांट तक पहुंचाने का प्लान था. जिसके लिए करोड़ों रुपए का बजट भी नगर निगम को दिया गया था. इसमें से कुंभ मेला के दौरान करीब एक दर्जन पोर्ट स्टेशन को वर्किंग सिचुएशन में दिखाया गया था. लेकिन मेला खत्म होते ही पोर्ट स्टेशन बनाने का काम रुक गया.

जो बने वह भी बदहाल

जिन कूड़ा अड्डों को पोर्ट स्टेशन बनाया गया आज उनकी भी स्थिति बेहद खराब है. वार्डो से निकलने वाला कचरा आज भी खुले मैदान में, सड़क पर या फिर खाली पड़े प्लाटों में डंप किया जा रहा है. कई-कई दिनों तक कचरा पड़ा रहता है. इसकी सड़ांध और बदबू से पब्लिक परेशान रहती है.

कॉलिंग

कुंभ मेला के दौरान करोड़ों रुपए का बजट नगर निगम को मिला, इसके बाद भी नगर निगम सफाई व्यवस्था को बेहतर नहीं कर पा रहा है. सफाई व्यवस्था ध्वस्त है. कोई भी पार्षद सफाई व्यवस्था से संतुष्ट नहीं है. पब्लिक का गुस्सा पार्षद पर उतर रहा है.

-सत्येंद्र चोपड़ा

पार्षद, चौक

सफाई व्यवस्था आज शहर की सबसे बड़ी समस्या बन चुकी है. पोर्ट स्टेशन गायब हो चुके हैं. जहां बना है वहां भी कचरा ओपेनली ही डंप हो रहा है. मेरे वार्ड में डीजे और हॉलैंड हॉल के बगल में खाली पड़ी जमीन पर कचरा डंप हो रहा है.

-आनंद घिल्डियाल

पार्षद, कर्नलगंज

नगर निगम एडमिनिस्ट्रेशन ने राष्ट्रीय स्वच्छता मिशन अभियान की धज्जियां निकाल दी हैं. कुंभ मेला में अरबों रुपए और संसाधन मिलने के बाद भी सफाई व्यवस्था ध्वस्त है. मम्फोर्डगंज वार्ड में खाली पड़े प्लॉट और नाला के पास कचरा डंप किया जा रहा है.

-रतन दीक्षित

पार्षद, मम्फोर्डगंज

वर्जन

सफाई को लेकर पब्लिक की शिकायत लगातार बढ़ती चली जा रही है. पोर्ट स्टेशन वर्किंग क्यों नहीं है, इसको लेकर अधिकारियों से बात की जाएगी. जल्द ही सफाई व्यवस्था बेहतर बनाने के लिए अभियान चलाया जाएगा.

-अभिलाषा गुप्ता नंदी

मेयर, नगर निगम प्रयागराज