छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: कंपनी एरिया को छोड़कर पूरे शहर में गंदगी दिख रही है। दिवाली का त्योहार नजदीक आने के बाद भी शहर की सफाई व्यवस्था ऊपरवाले के भरोसे है। होर्डिग और बैनर में तो लौहनगरी साफ-सुथरी है, लेकिन हकीकत इससे उलट है। मंगलवार को शहर के कई इलाकों में जाने के बाद हकीकत सामने आई। दैनिक जागरण आई नेक्स्ट और रेडियो सिटी 91.1 मिलकर शहर के लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से 'बिन में फेंक अभियान' चला रहे हैं। अभियान के 14वें दिन मंगलवार को शहर के विभिन्न इलाके के लोगों ने व्हाट्सएप के जरिए अपने इलाके में फैली गंदगी की तस्वीर भेजी। आइए जानते हैं शहर के नन कंपनी एरिया में कैसी है सफाई व्यवस्था

मानगो चेक पोस्ट

मानगो नगर निगम की ओर से कचरे का नियमित उठाव नहीं होने से कई जगहों पर रोड किनारे कूड़े का ढेर लग चुका है। स्थानीय लोगों ने बताया कि दैनिक जागरण ऑफिस के सामने डस्टबिन रखा हुआ है, लेकिन यहां पर कूड़ादान न होने से लोग चेक पोस्ट नाका और उनके बीच में बने डिवाइडर पर कूड़ा फेंक देते हैं।

चेक पोस्ट नाका में गंदगी का ढेर है। पटेल पथ उतरने के लिए इस चौराहे से आना होता है। जहां पर हर दिन गंदगी रहती है। कूड़ा डालने वाले लोग सड़क और डिवाइडर के बीच में ही कूड़ा फेंक कर भाग जाते हैं। चेक पोस्ट नाका पर एक डस्टबिन होना चाहिए।

मनोहर मिश्रा, मानगो

बर्मामाइंस रामलीला मैदान

बर्मामाइंस रामलीला मैदान के किनारे ही लोगों ने कूड़े का अंबार लगा रखा है। सोमवार को चौक-चौराहों पर थोड़ी सफाई देखने को मिली थी, लेकिन मंगलवार आते ही सफाई गायब हो गई। स्थानीय लोगों ने बताया कि लकड़ी मार्केट में लकड़ी की गंदगी के साथ ही घरों से निकले वाला कूड़ा बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसकी शिकायत एमएनएसी में की जाएगी।

लकड़ी टाल की वजह से पूरे दिन तेज आवाज और गंदगी का अंबार लगा रहता है। लेकिन पार्क में की गई गंदगी के लिए आम लोग और प्रशासन दोनों ही जिम्मेदार हैं। शहर में गंदगी होने के बाद भी प्रशासन अपनी पीठ ठोकने में लगी हुई है।

मनोज कुमार, बर्मामाइंस

बारीडीह

जेएनएसी क्षेत्र बारीडीह में सड़क और नाले के किनारे कूड़े का ढेर लगा हुआ है। इलाके में रोड किनारे कई स्थानों पर कूड़ा बिखरा मिला। स्थानीय लोगों का कहना है कि सरकार जहां होर्डिग, पोस्टर-बैनर में शहर को साफ बताने में जुटी हुई है, लेकिन सच्चाई लोगों के सामने है। क्षेत्र से डस्टबिन हटाये जाने से लोग इधर-उधर कूड़ा फेंक रहे हैं। यहां पर गंदगी होने पर पूरे दिन गंदे जानवरों का जमवाड़ा लगा रहता है।

शहर का सबसे बाहरी क्षेत्र होने के कारण उतनी गंदगी तो नहीं होती है, लेकिन दो-तीन दिन कूड़े का उठाव नहीं होने से चारों ओर गंदगी फैल गई है। स्थानीय लोगों का कहना है कि अधिकारी कर्मचारियों के काम का सही निर्धारित कर दिया जाए। जिसके इलाके में गंदगी मिले उसे अर्थदंड मिले, शहर की सभी व्यवस्था सही हो जाएगी।

नीतू पांडेय, बारीडीह

शास्त्री नगर, कदमा

शास्त्री नगर कदमा में कूड़े का अंबार लगा हुआ है। यहां के गैरजिम्मेदार लोग प्राथमिक विद्यालय के बगल में बने प्लॉट में कूड़ा फेंक रहे हैं। त्योहारों में शहर की सफाई राम भरोसे ही चल रही है। फेस्टिव सीजन में शहर की साफ सफाई न होने से इलाके की गलियां गंदी हैं। कूड़े का नियमित उठाव नहीं होने से लोग इसमें आग लगाकर जला देते हैं।

शास्त्री नगर में स्कूल के बगल में कूड़ा डालना शर्मनाक है। क्षेत्र में गंदगी का यह आलम है कि लोग अपने घर के बाहर ही कूड़ा फेंक देते हैं। इलाके में डस्टबिन लगे तो कुछ बात बने।

सोनू शर्मा, शास्त्री नगर, कदमा

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner