- आगरा समेत प्रदेश की 12 जिलों में खोली जाएंगी गोशाला

- बढ़ेगी सरकार की आमदनी, जनपद से भी भेजा गया प्रस्ताव

आगरा. जनपद समेत प्रदेश की 12 जेलों में गौशाला खोली जाएगीं. इसमें गायों का पालन किया जाएगा. बंदी गायों की सेवा कर पाएंगे, तो वहीं सरकार की भी आमदनी बढ़ेगी. जिला जेल से इसका प्रस्ताव भेजा जा चुका है. सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर गौशाला के लिए गृह जेल विभाग और गौसेवा आयोग के बीच समझौता हो चुका है.

दोनों जेलों में बनेगी गौशाला

जिले में जिला जेल और सेंट्रल जेल दोनों में गौशाला खोलीं जाएंगी. अभी मौजूदा समय में जेल में कॉपरेटिव सोसाइटी द्वारा गौशाला का संचालन किया जा रहा है. इसमें उन्हें खुद ही गौवंश के खाने-पीने के लिए इंतजाम करना होता है. इस बारे में डीआईजी जेल संजीव त्रिपाठी ने बताया कि जो गौशाला जेल शासन द्वारा खोली जाएगीं, उनका बजट शासन द्वारा मुहैया कराया जाएगा.

दूध की होगी बिक्री, खेत में जाएगा गोबर

डीआईजी जेल ने बताया कि दूध की ब्रिकी की जाएगी. जो आमदनी होगी. उसे सरकारी खाते में जमा कराया जाएगा. वहीं गोबर को खेत में डाला जाएगा. मौजूदा समय में जिला जेल में 124 गायों के लिए स्थान उपलब्ध है. वहीं सेंट्रल जेल में 35 गायों के लिए स्थान उपलब्ध है. उन्होंने बताया कि इससे जेल की आमदनी बढ़ेगी.