एत्मादपुर में शोहदे की दहशत से छात्रा ने उठाया था आत्मघाती कदम

- पंचायत के फैसले के बाद भी शोहदा कर रहा था परेशान

आगरा. एत्मादपुर के गांव गढ़ी रामी में गुरुवार को दहशत में आकर छात्रा ने फंदा बना कर जान देने की कोशिश की, साथ ही खुद को आग लगा ली. अभी तक इस घटना के कारण पर पर्दा पड़ा हुआ था पर शुक्रवार को छात्रा की मां ने इस मामले से पर्दा उठा दिया. आरोप है कि एक शोहदे से परेशान होकर छात्रा ने यह कदम उठाया था.

परेशान करने पर मां से की शिकायत

छात्रा देवकी की मां सुमन देवी ने बताया कि बेटी ने जली अवस्था में बताया कि उसने एक युवक के चलते ये कदम उठाया है. छात्रा को जान से मारने की धमकी दी गई. मां के मुताबिक गांव का ही एक युवक उसे परेशान कर रहा है. सितम्बर 2018 में युवक ने परेशान किया तो छात्रा ने मां से शिकायत की थी.

दहशत में स्कूल जाना छोड़ दिया

इस मामले में पंचायत हुई और छात्रा को लोगों ने लिखित में आश्वासन दिया कि अब के बाद से आरोपी परेशान नहीं करेगा. पंचायत के बाद परिजनों ने कार्रवाई नहीं की. छात्रा इस घटना के बाद से एक महीने तक दहशत में स्कूल नहीं गई. स्कूल के एक शिक्षक उसके घर आए और उसे समझाया. परिजनों को बताया कि छात्रा मेधावी है, उसे पढ़ने भेजो. इसके बाद परिजनों ने फिर से स्कूल जाने के लिए उसे तैयार किया.

फिर से कर रहा था परेशान

छात्रा की मां ने बताया कि युवक एक महीने से दोबारा पुत्री को परेशान करने लगा था. छात्रा ने परिजनों को इसकी जानकारी नहीं दी. मां के मुताबिक बेटी ने बताया कि दो दिन पहले स्कूल से लौटते में बाइक सवार दो युवकों ने रास्ते में घेर लिया. उसे धमकी दी, जिससे वह दहशत में आ गई. आजिज आकर उसने खुद को आग लगा ली.

परिजनों ने नहीं दी तहरीर

थाना एत्मादपुर इंस्पेक्टर नितिन कसाना के मुताबिक छात्रा के मजिस्ट्रेटी बयान कराए गए हैं. परिजनों ने किसी के खिलाफ कोई तहरीर नहीं दी है. तहरीर मिलने पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा.

बॉक्स

बेटी को कुछ बनाना चाहती है मां

मां के मुताबिक बेटी पढ़ने में बहुत होशियार है. वह उसे पढ़ा-लिखा कर खुद के पैरों पर खड़ा करना चाहती है. मां सुमन देवी बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ से प्रेरित है. मां दो महीने पहले तक एक स्कूल में मिड डे मील बनाने का काम करती थी.

जलने पर दी थी बड़ी बहन को आवाज

मां ने बताया कि बेटी से जब बात की तो उसने बताया कि जब वह जल रही थी तो अपनी बहन को बचाओ-बचाओ बोल कर आवाज दी थी पर वह उसे आग से बचा नहीं पाई. शोहदों की धमकी से छात्रा के अलावा उसकी मां भी दहशत में है.