- शनिवार को धूमधाम से मनाया गया भगवान कृष्ण का जन्म

- घरों व मंदिरों में एक साथ मनाई गई जन्माष्टमी

kanpur@inext.co.in

kanpur. शनिवार रात 12 बजते ही चारों ओर शंख व घंटों की गूंज ने वातावरण को आनंदित कर दिया. हर तरफ 'नंद घर आनंद भयो, जय कन्हैया लाल की..' जैसे भक्तिमय गीतों से धरती और आकाश गुंजायमान हो उठा. घरों व मंदिरों में भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव बड़े ही धूमधाम से मनाया गया. सिटी के विभिन्न मंदिरों में भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी. मंदिरों में खास सजावट की गई थी. देर रात तक नटखट कन्हैया के दर्शन करने का सिलसिला चलता रहा.

चरणामृत का भोग लगाया

शनिवार को घरों व मंदिरों में नारायण के अवतार भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव मनाया गया. 12 बजते ही जन्म के वक्त प्रतीक स्वरूप नाल वाला खीरा काटा गया. जिसके बाद भगवान को शहद, घी, गंगा जल से स्नान कराया गया. भगवान को भोग स्वरूप तुलसी की पत्ती, चरणामृत व पंजीरी भेंट की गई. जन्म की बधाईयां गाई गईं. वहीं शंख व घंटे से उद्घोष किया गया. जो भक्त सुबह से व्रत थे, उन्होंने पूजा कर अपना व्रत खोला.

झांकियों से सजे मंदिर

इस बार जन्माष्टमी पर अष्टमी तिथि व रोहिणी नक्षत्र एक साथ मिल रहे थे. जिसके चलते घरों व मंदिरों में एक साथ ही जन्माष्टमी मनाई गई. मंदिरों में जन्म के बाद भगवान के दर्शन करने का सिलसिला शुरू हुआ, जो देर रात तक चलता रहा. इस मौके पर सिटी के प्रमुख मंदिरों में खासी भीड़ रही. सिटी के प्रमुख मंदिरों खासकर सनातन धर्म मंदिर, जेके मंदिर, इस्कान मंदिर बिठूर, राम जानकी मंदिर निराला नगर, राम लला मंदिर रावतपुर आदि मंदिरों में विशेष आयोजन किए गए. विशेष झांकियों से मंदिरों को सजाया गया था. कालिया मर्दन, पूतना वध, कंस वध, अर्जुन को उपदेश देते भगवान कृष्ण, भीष्म पर हमलावर मुद्रा में भगवान कृष्ण, भगवान राम चंद्र का वनगमन, भगवान विष्णु का दिव्य स्वरूप आदि झांकियां काफी मनमोहक लग रही थीं.

इलेक्ट्रानिक झांकियों ने मन मोहा

सनातन धर्म मंदिर कौशलपुरी में जन्माष्टमी पर विशेष आयोजन किया गया. यहां पर जन्माष्टमी से लेकर भगवान की छठी तक विशेष आयोजन होते रहते हैं. इस बार यहां पर इलेक्ट्रानिक झांकियां सजाई गई थीं. जो विशेष आकर्षण का केंद्र रहीं. भगवान के प्रकटोत्सव पर मंदिर को भव्य रूप से सजाया गया था. आईजी आशुतोष पाण्डेय भी यहां मौजूद रहे. संरक्षक राम प्रकाश गुलाटी ने बताया कि 9 सितंबर तक शाम को 6.30 से लेकर 10.30 बजे के बीच झांकियों का प्रदर्शन किया जाएगा.