क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : इस बार बहनों को भाई की कलाई पर राखी बांधने के लिए दोपहर तक का इंतजार करना होगा. सावन महीने के अंतिम दिन मनाए जाने वाले इस त्योहार पर एक बार फिर भद्रा लगेगा. इसलिए इस बार राखी बांधने का सही वक्त दोपहर के बाद यानी 1 बजकर 45 मिनट के बाद ही राखी बांधने का शुभ समय आएगा. शुभ और सही मुहूर्त पर भाई को राखी बांधने के दोपहर तक बहनों को उपवास रहना होगा.

भद्रा में राखी न बांधे

भद्रा को शुभ काम के लिए अच्छा नहीं माना जाता है इसलिए राखी बांधने के लिए भी इसे उचित नहीं माना जाता रहा है. ज्योतिषाचार्यो के अनुसार भ्रदा का संबंध सूर्य और शनिदेव से माना जाता है. वहीं भद्राकाल में राखी बांधना शास्त्रों में भी निषेध बताया गया है जिसमें रक्षा सूत्र नहीं बांधा जा सकता. इस बार भद्रा का समय 9 घंटे 11 मिनट तक का है जो कि 28 अगस्त को रात 3 बजकर 35 मिनट से लग जाएगा. यह रक्षाबंधन पर्व यानी 29 अगस्त को दोपहर 1 बजकर 45 मिनट तक रहेगा. श्रेष्ठ समय 1 बजकर 50 मिनट से शुरू होगा.

तीसरी बार लग रहा है भद्रा

इस बार रक्षाबंधन के मौके पर भद्रा नक्षत्र का लगना कोई पहली बार नहीं बल्कि यह लगातार तीसरी बार ऐसा होने जा रहा है जब इस दिन भद्रा लगेगा. साल 2013, 14 के बाद यह तीसरा साल ऐसा होगा.

भाई की राशि के अनुसार उसी रंग की बांधे राखी

शास्त्रों के अनुसार अगर भाई को उसके राशि के अनुसार उस रंग की राखी बांधी जाए तो वह विशेष लाभदायी होता है. इसके लिए मेष राशि के लिए लाल रंग के धागे, वृषभ राशि के लिए सफेद रंग, मिथुन राशि के लिए हरे रंग, कर्क राशि के लिए चमकीले सफेद रंग, सिंह राशि के लिए गोल्डेन पीले रंग , कन्या राशि के लिए हरे रंग, तुला राशि के लिए सफेद रंग, वृश्चिक राशि के लिए सफेद रंग, धनु राशि के लिए पीला रंग, मकर और कुंभ राशि के लिए नीला रंगा, मीन राशि के लिए पीले रंग के धागे वाली राखी बांधना शुभ होगा.