क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : पूजा के दौरान बेहतर सर्विस देने वाले पुलिस पदाधिकारियों को पुरस्कृत किया जाएगा. इस बाबत ड्यूटी में तैनात पुलिस अधिकारियों, सिपाहियों के साथ कर्मियों के काम करने की समीक्षा की जा रही है. एसएसपी अनीश गुप्ता ने बताया कि कंट्रोल रुम में लगाए गए सीसीटीवी कैमरों के जरिए पूजा पंडाल में तैनात पुलिस अफसरों व जवानों के कामकाज की वे खुद मॉनिटरिंग कर रहे हैं. पूजा के बाद इसकी समीक्षा की जाएगी कि किस पदाधिकारी ने कितने बेहतर तरीके से अपनी ड्यटी निभाई है. फिर उन्हें पुरस्कार देकर सम्मानित किया जाएगा.

ड्यूटी के प्रति हैं संजीदा

एसएसपी के मुताबिक, यूं तो सभी पुलिस अधिकारी व जवान पूजा के शांति व सौहार्द के साथ आयोजन में पूरी ईमानदारी के साथ ड्यूटी कर रहे हैं. लेकिन, कई बार ऐसा होता है कि कुछ गलतियों के कारण उन्हें विभाग की ओर से दंड भी दिया जाता है. पर, हमेशा वे दंड के भागी नहीं हैं. उन्होंने कहा कि रांची पुलिस सभी अफसर व जवान अपनी ड्यूटी के प्रति पूरी तरह संजीदा हैं.

100 मजिस्ट्रेट और 1000 जवान हैं तैनात

रांची में पूजा के शांतिपूर्ण आयोजन को लेकर लॉ एंड ऑर्डर के लिए सौ से ज्यादा मजिस्ट्रेट व एक हजार से ज्यादा जवानों की तैनाती की गई है. पूजा पंडालों के साथ चौक-चौराहे व महत्वपूर्ण पब्लिक प्लेसेज में ये अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं. इनमें से कई पुलिस अधिकारी और जवानों को दूसरे जिले से प्रतिनियुक्ति पर बुलाया गया है. दूसरी तरफ ट्रैफिक सिस्टम को स्मूथ बनाने रखने के लिए बड़े वाहनों के शहर में एंट्री पर रोक लगा दी गई है.