नई दिल्ली (एएनआई)। लॉकडाउन के बीच घर बैठे यूजर्स को पढऩे और देखने के लिए उनके मनमुताबिक कंटेंट मिल सके। इसके लिए गूगल इंडिया ने यू-ट्यूब लर्निंग डेस्टिनेशन' की शुरुआत की है। इसके जरिए स्टूडेंट्स, पैरेंट्स और टीचर्स यू-ट्यूब पर शिक्षा से जुड़ा और ज्ञान वर्धक वीडियो आसानी से खोज सकेंगे। कंपनी ने आधिकारिक ब्लॉग पोस्ट में लिखा कि 'यू-ट्यूब लर्निंग डेस्टिनेशन' का लाभ कोई यूजर्स भी ले सकता है। भारत में जहां कई भाषाएं बोली जाती हैं, इसलिए इसमें आपको तमिल, तेलुगु, बंगाली और मराठी सहित अन्य भारतीय भाषाओं के साथ अंग्रेजी और हिंदी में कंटेट मिल जाएगा।

ऑनलाइन टीचिंग के लिए ट्रेनिंग सेशन भी

इस सर्विस का लाभ यूजर्स मोबाइल के साथ-साथ डेस्कटॉप पर भी उठा सकेंगे। इसमें पूर्ण रूप से सीखने के संसाधन हैं। जिसमें फिजिक्स, गणित और बॉयोलॉजी के पाठ्यक्रम विषयों से लेकर फोटोग्राफी, योग और अन्य ऐसे विषय हैं, जिसमें आपका इंट्रेस्ट हो। कंपनी ने ब्लॉग पोस्ट में कहा, 'टीचर्स और एडुकेटर्स को ऑनलाइन टीचिंग के लिए हमने ट्रेनिंग सेशन भी शुरु किया है। यह हिंदी में भी उपलब्ध है। हमने इसे यूनेस्को के साथ मिलकर बनाया है।' यही नहीं कंपनी ने अपने रीडिंग ऐप बोलो पर बच्चों की किताबें भी जारी की हैं।

गूगल ने प्ले स्टोर पर जोड़ा 'किड्स' सेक्शन

गूगल ने यह भी घोषणा की है कि वह प्ले स्टोर पर एक नया 'किड्स' सेक्शन जोड़ रहा है जिसमें प्री-स्क्रीन, टीचर अप्रूव्ड फीचर्स हैं। किड्स टैब प्ले स्टोर में मौजूदा फैमिली टैब की जगह लेगा। सर्च इंजन की दिग्गज कंपनी ने इस साल के अंत में इस सेक्शन को लॉन्च करने की योजना बनाई थी, लेकिन जल्द ही इसे शुरू कर दिया गया क्योंकि लोग कोविड -19 महामारी के कारण घर के अंदर ही हैं। टेकक्रंच के अनुसार, एप्स को तीन कैटेगरी में बांटा गया है। इसमें एक 5 से कम उम्र वाले हैं वहीं दूसरा सेक्शन 6-8 उम्र तक के लिए है तीसरा 9-12 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए होगा। लॉन्च के समय, प्ले स्टोर में लगभग 1,000 टीचर्स अप्रूव्ड एप लाइव होंगे।

दूरदर्शन और रेडियो भी नहीं है पीछे

लॉकडाउन के दौरान स्टूडेंट्स के लिए दूरदर्शन और ऑल इंडिया रेडियो देश भर में अपने क्षेत्रीय चैनलों के माध्यम से टीवी, रेडियो और यूट्यूब पर वर्चुअल क्लासेस और अन्य शैक्षणिक सामग्री प्रसारित कर रहे हैं। एक आधिकारिक बयान के अनुसार, देश भर के सभी स्कूल बंद हैं, ऐसे में ये वर्चुअल क्लॉसेज लाखों छात्रों की मदद कर रही हैं। खासतौर से क्लॉस 10 और 12वीं के बच्चों की बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी में यह काफी मददगार साबित होंगी। इनमें से कई कक्षाएं छात्रों को उनकी इंजीनियरिंग और मेडिकल प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी में मदद करती हैं।

चल रही हैं वर्चुअल क्लॉसेज

इन वर्चुअल क्लॉसेज में सिलेबस के अलावा अन्य विषयों पर भी पढ़ाई हो रही। इन क्लॉसों में बच्चों का इंट्रेस्ट बना रहे इसके लिए कुछ राज्यों में वर्चुअल क्लॉसेज में क्विज शो शामिल किया गया है। बता दें ये क्लॉस सुबह जल्दी शुरू होती हैं और कुछ दोपहर में दोहराई जाती हैं। दूरदर्शन केंद्र जो पहले से ही वर्चुअल क्लॉसेज का प्रसारण कर रहे हैं, वे हैं कर्नाटक, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, केरल, गुजरात और जम्मू-कश्मीर। वर्चुअल क्लॉसेज को प्रसारित करने वाले ऑल इंडिया रेडियो स्टेशन विजयवाड़ा, हैदराबाद, बेंगलुरु, तिरुचिरापल्ली, कोयम्बटूर, पुदुचेरी, मदुरै, त्रिवेंद्रम, तिरुनेलवेली, पणजी, जलगाँव, रत्नागिरी, सांगली, परधनी, औरंगाबाद, पुणे, मुंबई, गंगटोक, गुवाहाटी, बीकानेर, बीकानेर हैं। औसतन, डीडी चैनल प्रतिदिन ढाई घंटे की शैक्षिक सामग्री और ऑल इंडिया रेडियो चैनल 30 मिनट का प्रसारित कर रहा है।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

National News inextlive from India News Desk

inext-banner
inext-banner