- पॉल्युशन सार्टिफिकेट पब्लिक के लिए बना पहाड़

- आरटीओ से इनकम टैक्स ऑफिस तक लग रही लाइन

- पॉल्युशन सर्टिफिकेट ना होने पर कट सकता है 10 हजार का चालान

GORAKHPUR: ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट की सख्ती का असर दिखने लगा है. अभी तक जिस पॉल्युशन सार्टिफिकेट को पब्लिक इग्नोर करती रही है, उसी के लिए इन दिनों आरटीओ के बाहर पब्लिक चार से पांच घंटे लाइन लगा रही है. ऐसा इसलिए है कि पॉल्युशन सर्टिफिकेट ना होने पर 10 हजार तक जुर्माना है. इससे बचने के लिए लोग किसी भी हाल में जल्द से जल्द सार्टिफिकेट बनवाना चाह रहे हैं. लाइन इतनी लंबी लग रही कि वाहनों की कतार आरटीओ से लेकर इनकम टैक्स ऑफिस तक पहुंच जा रही. हाल ये कि एक घंटे पापा तो तीन घंटे बेटा कतार में खड़ा हो रहा है तब जाकर सार्टिफिकेट बनवाने में कामयाबी मिल रही है.

एक सेंटर होने से पब्लिक परेशान

आरटीओ की तरफ से तीन सेंटर्स को पॉल्युशन सर्टिफिकेट बनाने की जिम्मेदारी मिली है. बुधवार को सर्वर और रेट को लेकर दिन भर हल्ला-गुल्ला चलता रहा. बाद में लोगों को बैरंग ही वापस लौटना पड़ा. बुधवार को एक भी सार्टिफिकेट जारी नहीं हो पाया. गुरुवार को केवल एक ही पॉल्युशन सेंटर खुला. जहां आरटीओ गेट के पास से दूसरी तरफ गोरखपुर क्लब तक लंबी लाइन देर शाम तक लगी रही.

दिख रहा जुर्माने का खौफ

पॉल्युशन सार्टिफिकेट ना होने पर मोटर व्हीकल एक्ट के तहत 10 हजार तक का जुर्माना लगाया जा सकता है. पहले पॉल्युशन सार्टिफिकेट ना होने पर 1000 रुपए का चालान था. 10 हजार जुर्माने का खौफ हर किसी के चेहरे पर देखने को मिल रहा है.

डीएल के लिए पहुंच रहे पुलिस कर्मचारी

अभी हाल ही में धर्मशाला पेट्रोल पंप के पास का एक वीडियो वायरल हुआ था. जिसमें होम गा‌र्ड्स को हेलमेट ना पहनने पर कुछ लोग अपशब्द कह रहे हैं. इसके बाद से ही आरटीओ ऑफिस में डीएल से लगाए अन्य कामों के लिए पुलिस कर्मचारी भी पहुंच रहे हैं.

नहीं खुले दो सेंटर

भीड़ को देखते हुए सेंटर बढ़ाने के लिए कई लोगों ने आरटीओ से गुहार भी लगाई. इस पर आरटीओ ने उन्हें ऑनलाइन आवेदन करने के लिए कहा ताकि शहर में अन्य जगहों पर भी सेंटर खोले जा सकें. आरटीओ प्रशासन श्याम लाल ने ये भी कहा कि दो सेंटर नहीं खुलेंगे तो उनके लिए मुख्यालय लेटर लिखेंगे.

कोट्स

चार घंटे से लाइन में लगा हूं. अभी तक नंबर नहीं आया है. पॉल्युशन सर्टिफिकेट के लिए सेंटर की संख्या बढ़ानी चाहिए ताकि पब्लिक को आराम मिले.

सुहेब, घंटाघर

दो दिन से आ रहा हूं. इसके बाद भी सार्टिफिकेट नहीं बनवा पाया हूं. एक ही सेंटर हैं, इतने लोग हैं तो कैसे काम होगा. आज तो बनवा कर ही जाउंगा.

विजय कुमार चौधरी, बरगदवां

दोपहर में भी आया था तो लंबी लाइन लगी थी. सोचा शाम को बनवा लूंगा. शाम को आया तो देखा लाइन तो और लंबी हो गई है. अब समझ में नहीं आ रहा क्या करूं.

दिलीप, अंधियारीबाग

कल का दिन तो सर्वर ने ले लिया. आज एक ही सेंटर पर इतनी भीड़ है. पॉल्युशन सर्टिफिकेट सेंटर की संख्या बढ़ा देते तो पब्लिक का काम आसान हो जाता.

फजल, निजामपुर

दो दिन से सार्टिफिकेट बनवाने के लिए परेशान हूं. आज दो घंटे से लाइन में लगा हूं. पॉल्युशन सर्टिफिकेट के लिए हर एरिया में एक सेंटर खोलना चाहिए.

विवेक मिश्रा, रुस्तमपुर

वर्जन

पॉल्युशन सर्टिफिकेट सेंटर के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं. जो सेंटर नहीं काम कर रहे हैं उनके खिलाफ कार्रवाई के लिए लेटर लिखा जाएगा.

- श्याम लाल, आरटीओ प्रवर्तन