विभागों में लौटी रौनक, पर कम न होंगी दुश्वारियां

शुक्रवार को बिजली कर्मचारियों ने वसूले तीन करोड़

GORAKHPUR: प्रदेश में बिजली निगम के निजीकरण का फैसला वापस लेने के बाद से कर्मचारी काफी खुश हैं. शहर में 18 दिनों से आंदोलन कर रहे बिजली कर्मचारी शुक्रवार को काम पर लौटे. कर्मचारियों और अधिकारियों की मौजूदगी से विभागों में चहल-पहल बनी रही. बिजली काउंटर खुलने से उपभोक्ताओं ने बिल का बकाया जमा कराया. हालांकि दोबारा मरम्मत कार्य शुरू होने से शनिवार से बिजली कटौती शुरू हो जाएगी.

जीत पर जताई खुशी, एक दूसरे को दी बधाई

निजीकरण के विरोध में बिजली कर्मचारी हड़ताल पर चल रहे थे. गुरुवार रात प्रदेश सरकार ने बिजली व्यवस्था को प्राइवेट करने का फैसला वापस ले लिया. फैसले की जानकारी मिलते ही कर्मचारियों ने हड़ताल खत्म कर दी. शुक्रवार सुबह काम पर लौटने का फैसला लिया गया. सभी कर्मचारी तय समय से दफ्तर पहुंचे. बिलिंग काउंटर खुलने पर पब्लिक ने पैसे भी जमा कराया. फैसला वापस लेने पर कर्मचारी संगठनों ने खुशी जताई. कहा कि संगठित होकर लड़ने पर प्रदेश सरकार ने निजीकरण का फैसला वापस लिया. अपनी जीत पर कर्मचारियों ने एक दूसरे को बधाई दी.

शनिवार से शुरू होंगे मरम्मत कार्य

हड़ताल की वजह से बिजली व्यवस्था के सुधार कार्य प्रभावित हो रहे थे. कर्मचारियों के शटडाउन न लेने से मरम्मत कार्य नहीं हो पा रहे थे. शनिवार से मरम्मत कार्य के लिए बिजली कटौती शुरू हो जाएगी. हिंदी बाजार में सुबह 10 बजे से शाम चार बजे तक बिजली कटेगी. इससे मदरसा चौराहा, घंटाघर, बड़ी मस्जिद, उत्तरी और दक्षिणी रायगंज, रेती रोड और गहना मार्केट में बिजली नहीं मिलेगी. दाउदपुर सब स्टेशन से जुड़े इलाकों में सुबह 11 बजे दो दोपहर बजे तक बिजली कटेगी. इससे दाउदपुर, गोपलापुर, इंद्रानगर और कैंट गली में बिजली नहीं रहेगी. राप्ती नगर फीडर वाले एरिया में सुबह 11 बजे दोपहर एक बजे तक बिजली काटने की सूचना दी गई है.

एक दिन में कमाए 312 लाख रुपए

बिजली विभाग की हड़ताल खत्म होने के पहले दिन जबरदस्त रेवन्यू जमा हुआ. मार्च में बकाया धनराशि जमा कराने के लिए उपभोक्ता काउंअर पर पहुंचे. बिजली अधिकारियों ने दावा किया कि एक दिन में 312 लाख रुपए का रेवन्यू जमा कराया गया है. शहर के चार खंडों में सबसे ज्यादा खंड एक में हुई है. सबसे कम राजस्व खंड चार से आया था. खंड एक के उपभोक्ताओं ने 137.57 लाख रुपए जमा कराए हैं. खंड दो में 112.63, खंड तीन में 52.47 लाख रुपए और खंड चार में 10.28 लाख रुपए जमा हुए.

शुक्रवार को सभी कर्मचारी काम पर लौट आए. पेडिंग पड़े कामों को शुरू कराया गया. 30 अप्रैल तक सभी कामों को पूरा करा लिया जाएगा. बिजली काउंटर खुलने पर तीन करोड़ रुपए का रेवन्यू रिलीज हुआ है.

एके सिंह, एसई, महानगरीय विद्युत वितरण