- सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने सरकार के मंत्रियों और अधिकारियों पर जमकर बरसे

- अधिकारियों और कंस्ट्रक्शन कंपनी से पूछा, कब तक करोगे काम पूरा

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW: संडे को लखनऊ आगरा एक्सप्रेस वे के शिलान्यास के मौके पर सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने सरकार के मंत्रियों और अधिकारियों पर जमकर बरसे. उन्होंने कहा कि हम शिलान्यास के दिन ही उद्घाटन की तारीख भी तय कर देते थे और काम उससे क्भ्-ख्0 दिन पहले पूरा हो जाता था. लेकिन इस सरकार में मुझे अभी तक उद्घाटन करने का मौका ही नहीं मिला. मुलायम सिंह ने कहा कि मुझे खुशी है कि पार्टी ने जो वादे किये थे उसे सरकार पूरा कर रही है. सिर्फ शिलान्यास से काम नहीं चलेगा.

आजादी के बाद नहीं बने इतने पुल

दो मुख्यमंत्री ही शिलान्यास के समय ही उद्घाटन की तारीख तय कर देते थे. एक हरियाणा में बंसी लाल और यूपी में मुलायम सिंह. मुलायम सिंह ने अखिलेश यादव की ओर इशारा करते हुए कहा कि आपने योजना बहुत चलाई हैं. काम बहुत शुरू है लेकिन स्लो है. यह नहीं होना चाहिए.

मंत्रियों से जताई नाराजगी

मुलायम सिंह ने कहा कि मंत्रियों को बताना पड़ेगा कि उन्होंने कितना काम किया. इसकी सूची मुझे मिल जाए कि किसने कितना काम कराया. यह ध्यान रखना चाहिए कि संगठन सरकार से ऊपर होता है. काम करो नहीं तो हटना पड़ेगा. और मुझे कैसे हटाओगे. उसके लिए दोबारा सम्मेलन बुलाना होगा. उन्होंने मजाकिया लहजे में कहा कि सम्मेलन फिर से बुला लो और देख लो. उन्होंने कहा कि मंत्रियों की फिर मीटिंग बुलाओ डेट और टाइम फिक्स कर लो और मुझे बताओ. सब अपने अपने काम का ब्योरा लेकर आयें. देखूं किसने कितना काम किया है?

कब तक बना देंगे?

मुलायम सिंह ने एक्सप्रेस वे को तैयार करने के लिए टाइम के बारे में पूछा. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री बताएं कब तक तैयार हो जाएगा यह एक्सप्रेस वे? चीफ सेक्रेटरी बतायें? सामने बैठे काम कर रही कंपनी से पूछा आप ही बता दीजिए कब तैयार कर लेंगे. अभी तय करो और बताओ कब तक काम पूरा कर लोगे? एक अधिकारी आगे आया और उसने बताया कि ख्ब् महीने में काम पूरा हो जाएगा. मुलायम सिंह ने इस टाइम लाइन को भी दो महीना कम करके इसे ख्ख् महीने में पूरा करने की रिक्वेस्ट की जिसे सम्बंधित कंपनियों के अधिकारियों ने मान लिया.

मोदी कर रहे मेरी नकल

मुलायम सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री विदेश जा रहे हैं इसे मैं गलत नहीं मानता. देशों से दोस्ती करना अच्छी बात है. यह अच्छी विदेश नीति है. उन्होंने कहा कि गंदगी दूर करना है तो गरीबी दूर करो गंदगी अपने आप दूर हो जाएगी. गांवों को गोद लिये जाने के बारे में कहा कि मैंने बहुत पहले कहा कि था कि जो भी प्रतिनिधि हैं वह दो दो गांव का कम से कम विकास करायें. इस सरकार के शुरुआत में ही मैंने मंत्रियों से कहा था कि कम से कम एक गांव में काम कीजिए. कोई चमत्कारी काम कीजिए जिसकी चर्चा हो. उन्होंने कहा कि हमने 90 में ही ट्वायलेट्स बनवाये थे.

मैं आता नहीं कालिदास पर

मुलायम सिंह ने कहा कि मैं यहां नहीं आता. यहां आता हूं तो लोग कहते हैं कि मुलायम सिंह सरकार चला रहे हैं. कुछ लोग अज्ञानी और नादान हैं. जो आजम खां पर सवाल उठा रहे हैं. उन्होंने कहा कि बताएं सीएम कितना रुपये दिया. वह सब प्रदेश में दिया. उन्होंने रामपुर में हुए काम की चर्चा करते हुए कहा कि आजम खां ने रामपुर में एक मॉडल बना दिया है. साल भर बाद इंडिया में ऐसा कोई कस्बा नहीं होगा जैसा रामपुर है. उन्होंने कहा कि सीएम ने यहां बुलाया इसके लिए धन्यवाद. वैसे भी मैं शिलान्यास के कार्यक्रमों में नहीं आता.