JAMSHEDPUR: स्टील सिटी के टाटानगर रेलवे स्टेशन में टिकटों की कालाबाजारी रुकने का नाम नहीं ले रही है. टिकट की कालाबाजारी में दलालों के साथ रेलवे कर्मचारियों की मिलीभगत से यह कारोबार तेजी से फल-फूल रहा है. रविवार को टाटानगर स्टेशन में आरपीएफ को मिली गुप्त सूचना के आधार पर टीम ने हावड़ा से जगदलपुर जाने वाली सम्लेश्वरी एक्सप्रेस के गार्ड एन के श्रीवास्तव की जांच की, जिसमें उनके पास से 44 हजार रुपये के तत्काल और प्रिमियम तत्काल के टिकट मिले. गार्ड ने यह तत्काल टिकट बंडामुंडा, चक्रधरपुर व गोइलकेरा स्टेशन से कटवाए थे. आरपीएफ थाना प्रभारी एमके साहू ने बताया कि गार्ड एनके श्रीवास्तव से पूछताछ की जा रही है. उसके निशानदेही पर गिरोह के अन्य सदस्यों को गिरफ्तार किया जाएगा. फिलहाल एनके श्रीवास्तव को जेल भेज दिया गया है.

बड़े गिरोह के हाथ की आशंका

बताते चलें कि ट्रेन में टिकट की कालाबजारी को लेकर विभाग के ढुलमुल रवैये से दलालों के हौसले बुलंद है. तत्काल टिकट के नाम पर ट्रेन में बची हुई बर्थ को ज्यादा दाम पर बेचने का खेल किया जाता है, जिसमें रेलवे कर्मचारी इन दलालों की मदद करते हैं. रविवार को गार्ड की गिरफ्तारी के बाद किसी बड़े गिरोह के सक्रिय होने की आश्ाका जताई जा रही है. माना जा रहा है कि आरोपी गार्ड या किसी अन्य दलाल ने पहले से ही चक्रधरपुर, बारामुंडा और गोइलकेरा में पहले ही लोग मौजूद होंगे, जिन्हें देने के लिए ही गार्ड के पास इन स्टेशनों से तत्काल और प्रीमियम तत्काल टिकट निकाले गये थे. लेकिन किसी अन्य को इस बात की भनक लगने से मामला लीक हो गया, जिससे टाटानगर पर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया.

Posted By: Inextlive