आसमान में राख फैल गई है

ग्वाटेमाला सिटी (एएफपी)। ग्वाटेमाला के सबसे सक्रिय ज्वालामुखी 'फ्यूगो' में हुए विस्फोट के चलते कम से कम 25 लोगों की मौत हो गई। देश की आपदा प्रबंधन एजेंसी नेशनल कोआॅर्डिनेटर फॉर डिजास्टर रिडक्शन के प्रवक्ता ने एक व्हाट्सएप ग्रुप में कहा, 'रविवार की रात नौ बजे तक मृतकों की संख्या 25 थी।' उन्होंने बताया कि लापता और मृतकों की खोज और बचाव अभियान को फिलहाल कम रोशनी एवं खतरनाक स्थितियों के चलते रोक दिया गया है, सोमवार सुबह से इसे फिर से शुरू होना है। बता दें कि ज्वालामुखी फटने के बाद आसपास के सभी इलाके के आसमान में राख फैल गई है।

इलाके में आपातकाल घोषित

ग्वाटेमाला में ज्वालामुखी फटने के चलते कुछ समय के लिए वहां के हवाईअड्डे को भी बंद कर दिया गया है। बता दें कि इससे पहले आपदा प्रबंधन एजेंसी के प्रमुख सर्गियो कबानास और राष्ट्रपति जिम्मी मोराल्स ने बताया था कि घटना में सात लोगों की मौत हो गई, 20 घायल हो गए और 17 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए। मोरालेस ने राष्ट्रीय आपातकाल घोषित कर दिया है और लोगों से शांत इलाकों में जाने का आग्रह किया है। राष्ट्रपति के मुताबिक, इस हाद्से में सबसे अधिक एस्क्युन्टिला, चिमाल्टेनांगो और सैकेटेपेक्वेज इलाका प्रभावित हुआ है।

संख्या के बारे में बताना मुश्किल

राष्ट्रपति मोरालेस का कहना है कि इस घटना से प्रभावित लोगों की मदद के लिए पुलिस, रेड क्रॉस और सेना के हजारों कर्मियों को भेजा जा चुका है। आपदा प्रबंधन एजेंसी के प्रमुख सर्गियो कबानास ने बताया कि कुछ लोग लापता हुए हैं, लेकिन उनकी संख्या के बारे में बताना मुश्किल है।

जापान में ज्वालामुखी विस्फोट, हजारों मीटर आसमान में धुंए और धूल के बादल से दर्जनों उड़ानें रद

हवाई द्वीप पर ज्वालामुखी फटने के बाद लगभग 40 साल बाद फिर आया इतना तेज भूकंप

International News inextlive from World News Desk