- ज्ञान कुंभ में देशभर के 1200 से ज्यादा डेलीगेट होंगे शामिल

- आईआईटी, एनआईटी और आईआईआईटी जैसे संस्थानों के हेड, एक्सप‌र्ट्स देंगे अपना प्रजेंटेशन

देहरादून, देश के प्रतिष्ठित संस्थानों आईआईटी, एनआईटी और आईआईआईटी जैसे संस्थानों के हेड, एक्सप‌र्ट्स हरिद्वार में ज्ञान की गंगा बहायेंगे. राज्य में पहली बार आयोजित हो रहे ज्ञान कुंभ में देशभर के 1200 से ज्यादा डेलीगेट शामिल होंगे. यह कार्यक्रम 3, 4 नवबंर को हरिद्वार में आयोजित होगा.

एजुकेशन में क्वालिटी इंप्रूवमेंट पर मंथन

उच्च शिक्षण संस्थानों में क्वालिटी इंप्रूवमेंट को लेकर उत्तराखंड सरकार की पहल पर देश के नामचीन संस्थानों के हेड और एक्सप‌र्ट्स अपना प्रजेंटेशन देंगे. हर संस्थान और डेलीगेट को अपनी बात रखने का मौका मिलेगा, जिसमें वे अपने अनुभव साझा करेंगे. जिससे हर संस्थान दूसरे संस्थान में चल रही विभिन्न गतिविधियों और स्टूडेंट्स के सर्वागीण विकास के लिए हो रहे प्रयास को जान पाऐंगे. इससे दूसरे संस्थानों में भी इन प्रयासों को शुरू किया जाएगा. अभी तक ये दावा किया जा रहा है कि ज्ञान कुंभ के विचार देश की उच्च शिक्षा नीति में महत्वपूर्ण बदलाव लाएंगे. एचआरडी मिनिस्टर प्रकाश जावडे़कर खुद ज्ञान कुंभ में शामिल होने पहुंचेंगे.

कल्चरल एक्टिविटी भी होंगी आयोजित

ज्ञान कुंभ में नए शोध, तकनीक, मैनेजमेंट और अन्य क्रियाकलापों को रखने के लिए अलग-अलग फेज में कार्यक्रम तय किए जाएंगे. इसके अलावा कल्चरल एक्टिविटी से भी उत्तराखंड की संस्कृति और रीति रिवाजों को प्रदर्शन किया जाएगा. ज्ञान कुंभ में सांस्कृतिक कार्यक्रम और विरासत को प्रदर्शित करने के लिए संस्कृत विश्वविद्यालय को जिम्मेदारी सौंपी गई है. ये सारी एक्टिविटी पंतजलि योगपीठ में आयोजित किए जाएंगे. बताया जा रहा है कि ज्ञान कुंभ के दौरान देशभर से आए डेलीगेट हरिद्वार में सामूहिक गंगा आरती में पार्टिसिपेट करेंगे.

862 यूनिवर्सिटी करेंगी पार्टिसिपेट

ज्ञान कुंभ की तैयारियां तेज कर दी गई हैं. कार्यक्रम के संयोजक श्रीदेव सुमन यूनिवर्सिटी के वीसी डा. यूएस रावत को बनाया गया है. डा. यूएस रावत ने बताया कि पहली बार ऐसा ज्ञान कुंभ आयोजित हो रहा है जिसमें शिक्षा ही नहीं सभी मंत्रालयों से जुड़े मंत्री भी शामिल होंगे. इस कार्यक्रम में देश के राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति भी शिरकत करेंगे. इसके अलावा देश भर से मंत्री, हायर एजुकेशन से जुड़े सभी वीसी एपेक्स बॉडी में शामिल होंगे. इसके अलावा देश के प्रतिष्ठित संस्थान आईआईटी, एनआईटी, आईआईआईटी के हेड, रिसर्चर भी हिस्सा होंगे. देश की 862 यूनिवर्सिटी ज्ञान कुंभ का हिस्सा होंगे. उन्होंने बताया कि इस ज्ञान कुंभ में उत्तराखंड के 102 डिग्री कॉलेजों के प्रिंसिपल के साथ टॉपर्स और स्कोलर्स भी शामिल होंगे.

-----------

ज्ञान कुंभ में देशभर के नामचीन संस्थान की हस्तियां पार्टिसिपेट करेंगी. जो कि अपने अनुभवों को साझा करेंगे. क्वालिटी इंप्रूवमेंट में ज्ञान कुंभ मील का पत्थर साबित होने जा रहा है.

डा. यूएस रावत, वीसी, श्रीदेव सुमन यूनिवर्सिटी