कानपुर। रक्षा बंधन भाई-बहन के प्यार का त्योहार है। इस दिन बहनें भाइयों को राखी बांधती हैं और भाई ताउम्र उनकी रक्षा करने का वचन देते हैं। इस बार संयोग यह है कि 73वां स्वतंत्रता दिवस और रक्षा बंधन का त्योहार एक ही साथ मनाया जा रहा है। इसको लेकर जम्मू-कश्मीर में भी काफी उत्साह देखा गया है। जम्मू-कश्मीर के उधमपुर में कुछ स्कूली छात्राएं इंडियन-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) की 15वीं बटालियन के कैंप पर पहुंच गईं और सुरक्षा कर्मियों को एक दिन पहले ही राखी बांधकर रक्षाबंधन की शुरुआत कर दी। तस्वीरों में देख सकते हैं कि बच्चियां जम्मू-कश्मीर में किस तरह से रक्षाबंधन सेलिब्रेट कर रही हैं।

कठुआ में भी छात्राओं ने बांधी राखी
वहीं, जम्मू-कश्मीर के कठुआ में भी रक्षाबंधन से एक दिन पहले इसी तरह का एक और नजारा देखने को मिला। कठुआ में भी स्कूली छात्राओं ने एक दिन पहले सुरक्षा कर्मियों को राखी बांधकर भाई-बहन के इस त्योहार की शुरुआत की। इतना ही नहीं, राखी बांधने के बाद छात्राओं ने सुरक्षाकर्मियों के साथ कुछ तस्वीरें भी खिंचवाईं, जिसे नीचे देख सकते हैं। ऐसा माना जा रहा था कि जम्मू और कश्मीर में तैनात फौजी भाइयों की कलाइयां इस बार रक्षाबंधन पर सूनी ही रहे जाएंगी क्योंकि आर्टिकल 370 हटाने के बाद कुछ समय के लिए डाक सेवाओं पर रोक लगा दी गई थी।


Happy Raksha Bandhan 2019: स्वतंत्रता दिवस पर ध्वज योग में मनायें राष्ट्रीय एकता का त्योहार रक्षाबंधन

जम्मू-कश्मीर बन गया केंद्र शासित प्रदेश

बता दें कि पिछले सोमवार को गृहमंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का संकल्प व जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन व जम्मू-कश्मीर आरक्षण संशोधन विधेयक पेश किया था। राज्यसभा में अनुच्छेद 370 संबंधी प्रस्ताव स्वीकार और जम्मू-कश्मीर राज्य पुनर्गठन विधेयक पास हो गया था। इसके बाद दूसरे दिन यह लोकसभा में पेश हुआ और शाम को यहां से भी हरी झंडी मिली गई। प्रस्ताव पास होने के बाद अब जम्मू-कश्मीर विधानसभा वाला केंद्र शासित प्रदेश बन गया। वहीं लद्दाख को बिना विधानसभा के केंद्र शासित प्रदेश बना दिया गया।

 

 

Posted By: Mukul Kumar

National News inextlive from India News Desk