सीवर लाइन हर बरसात में तोड़ रही दम

बरसात का पानी ना निकलने से जलमग्न हो रही मेन रोड

Meerut . शहर को हापुड़ से जोड़ने वाली मेन हापुड़ रोड का शहर के अंदर का एक प्रमुख हिस्सा हर बरसात में जलभराव की समस्या से जूझता है. यह वो हिस्सा हैं जिसमें मेरठ की प्राइम लोकेशन शास्त्रीनगर, पुलिस ट्रेनिंग स्कूल, जागृति विहार एक्सटेंशन जैसी प्रमुख कॉलोनियों में आने जाने वाले लोग रोजाना गुजरते हैं. ऐसे में बरसात में यह रोड हजारों लोगों के लिए परेशानी का सबब बन जाती है. दैनिक जागरण आई नेक्स्ट ने इस लोकेशन पर जाकर आसपास के लोगों से जलभराव की समस्या के प्रमुख कारणों और निस्तारण के संबंध में जानकारी ली.

एल ब्लॉक तिराहे पर जलभराव

शास्त्रीनगर एल ब्लॉक तिराहे पर हापुड़ अड्डे, तेजगढ़ी चौराहे और हापुड़ शहर की तरफ से आने वाले हजारों वाहनों की भीड़ रोजाना गुजरती है. इस तिराहे के आसपास कई कॉलोनियां बनी हुई हैं साथ ही साथ तिराहे पर फल व अन्य बाजार रोजाना दिन रात रौनक रहता है, लेकिन पिछले दो साल से यह तिराहा जलभराव की समस्या से जूझ रहा है. हर बरसात में यहां सड़क पर सीवर का पानी ओवरफ्लो होकर भर जाता है जिस कारण से सड़क पर दो-दो फुट तक का जलभराव रहता है. इस साल भी हुई तेज बारिश में कई कई दिनों तक करीब एक किमी सड़क जलभराव रहा.

फेल हो रहे सीवर और नाले

दरअसल, हापुड़ रोड पर एक तरफ शास्त्रीनगर और दूसरी तरफ जमना नगर, जाकिर कॉलोनी, हुमायूं नगर आदि प्रमुख मोहल्ले आते हैं. इस रोड पर सबसे अधिक दबाव जाकिर कॉलोनी और हुमायूूं नगर के क्षेत्र से आने वाले पानी का दबाव रहता है. इन कालोनी का पानी केवल नालियों के भरोसे बाहर बडे़ नाले में आकर मिलता है. क्षेत्र की सीवर लाइन अधिकतर गलियों में बंद है ऐसे में नाले पर अधिक दबाव रहता है. लेकिन बरसात में सड़क पर गिरने वाला पानी भी नालों में चला जाता है और गलियों का पानी भी नाले में आ जाता है इस कारण से नाले ओवर फ्लो हो जाते हैं वहीं सीवर लाइन केवल शास्त्रीनगर की तरफ से खुली हुई है इसलिए वहां का पूरा पानी भी हापुड रोड पर सीवर लाइन में आकर मिलता लेकिन यहां से आगे सीवर लाइन बंद है इसलिए पानी सड़क पर आ जाता है. इस कारण से बरसात में हापुड रोड हर साल जलमग्न हो रही है.

सीवर लाइन से मिलेगी राहत

इस समस्या से निस्तारण के लिए इस साल जलनिगम द्वारा हापुड़ रोड पर सीवर लाइन डालने का काम किया जा रहा है. उसके अलावा गलियों में छोटी सीवर लाइन डाली जा रही जिससे बरसात का पानी आसानी से काली नदी में पहुंच जाएगा. ऐसे में अगले साल बरसात में जलभराव की समस्या से निजात मिलने की उम्मीद है.

हापुड़ रोड की समस्या के निस्तारण के लिए जाकिर कालोनी में सीवर लाइन डाली जा रही है साथ ही साथ हापुड़ रोड पर भी बड़ी सीवर लाइन डालने का काम किया जा रहा है. नालों की सफाई नियमित हो रही है इससे भी पानी अब तुरंत निकल रहा है.

- डा गजेंद्र, नगर स्वास्थ्य अधिकारी

पानी भरने का बस यही कारण है कि यहां गलियों से पानी निकलने का एक मात्र साधन नालियां है और बरसात में वह नालियां पहले से ही जाम रहती है. वहीं नालियों में डेयरियों का गोबर भरा रहता है इससे भी पानी नही निकल पाता है.

- सिकंदर

क्षेत्र की सीवर लाइन बड़ी लाइन से जुड़ी हुई नही है जिस कारण से पानी नालियों में ही भरा रहता है और बरसात में यह पानी सड़क पर आ जाता है. सीवर लाइन चालू हो तो कुछ समस्या दूर हो.

- बुद्ध प्रकाश

यहां पानी निकलने के लिए बड़े नाले बने तो हुए हैं लेकिन उस पर अतिक्रमण है जिस कारण से उनकी सफाई नहीं हो पाती है. ऐसे में बरसात में पानी बाहर आ जाता है.

- मो. शहजाद