- एसएसपी ने एयू प्रशासन से कहा दो टूक, हॉस्टल्स खाली करवाना बताया जरूरी

- यूनिवर्सिटी की चुप्पी समझ से परे, दबाई अपराधी किस्म के छात्रों की सूची

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के छात्रावास गुंडों के लिए ऐशगाह साबित हो रहे हैं. यहां बमबाजी करने वाले, आगजनी करने वाले, पथराव में शामिल रहने वाले, मारपीट करने वाले अपराधी किस्म के युवक रह रहे हैं. एसएसपी ने यूनिवर्सिटी के वीसी को पत्र लिखकर इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करने को कहा है.

केपीयूसी में मिले थे बम

बता दें कि इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के हॉस्टल्स को एक समय आईएएस पैदा करने वाली फैक्ट्री के रूप में जाना जाता था. लेकिन अब यहां बमबाजों की जमात ने डेरा डाल रखा है. कुछ वर्ष पूर्व केपीयूसी हास्टल में पुलिस की रेड के दौरान बमों का पूरा जखीरा पकड़ा गया था, जिससे एयू और डिस्ट्रिक एडमिनिस्ट्रेशन के कान खड़े हो गए थे. बावजूद इसके गुजरते वक्त के साथ घटनाक्रमों में कोई कमी नहीं आई और छात्रावास अपराधियों का बसेरा बन गए.

बमबाजी है ताजा गवाह

ताजा घटनाक्रम थर्सडे नाइट का है. मम्फोर्डगंज स्थित एक कोचिंग के बाहर ताबड़तोड़ बमबाजी की गई, जिसमें कोचिंग के गार्ड को गोली मार दी गई. घटना में यूनिवर्सिटी के हिन्दू हॉस्टल एवं पीसीबी हॉस्टल के अन्त:वासियों की संलिप्तता बताई गई. इसके बाद भारी संख्या में पुलिस बल ने दोनों छात्रावासों में देर रात छापेमारी की कार्रवाई की. पुलिस ने छात्रावासों से कई संदिग्धों को भी पकड़ा और थाने ले गई.

एयू प्रशासन का खौफनाक मौन

एक ओर जहां छात्रावासों में काबिज दबंग पुलिस की नाक में दम किए हैं, वहीं एयू एडमिनिस्ट्रेशन इनके खिलाफ कोई एक्शन लेने के मूड में नहीं दिख रहा. एसएसपी केएस इमेनुएल ने 09 दिसम्बर 2015 को पत्र जारी करके 74 ऐसे छात्रों की सूची यूनिवर्सिटी के वीसी को भेजी थी. जिनके ऊपर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज है. लेकिन सूत्रों का कहना है कि एक्शन के बजाय यूनिवर्सिटी ने ऐसे छात्रों की सूची को ठंडे बस्ते में डाल दिया. एसएसपी ने अपने पत्र में वीसी को लिखा है कि छात्रावास खाली कराना नितांत आवश्यक है. उन्होंने यह पत्र कमिश्नर, डीएम एवं आईजी को भी भेजा था. यह हाल तब है जब एसएसपी ने भेजी गई सूची में छात्रों का नाम, पता और उनके छात्रावास का कमरा नम्बर तक बता डाला है.