चंडीगढ़ (पीटीआई)। रविवार रात आधे घंटे से अधिक समय तक चली बैठक में नवनियुक्त प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी शैलजा भी मौजूद थीं। दोनों दलों के बीच बीजेपी शासित राज्य की 90 विधानसभा सीटों पर सीटों पर मिलकर चुनाव लड़ने की सहमति हो सकती है। हरियाणा विधानसभा चुनाव अक्टूबर में होने हैं। बैठक के पूर्व हुए राजनीतिक घटनाक्रम में बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने पिछले हफ्ते इंडियन नेशनल लोकदल (INLD) से टूटकर बनी ओमप्रकाश चौटाला के पोते दुष्यंत चौटाला की अगुवाई वाली जननायक जनता पार्टी (JJP) के साथ चुनाव पूर्व गठबंधन तोड़ लिया था। जेजेपी ने बीएसपी को 40 सीटों की पेशकश की थी, जिससे उसने इनकार कर दिया था। गठबंधन खत्म करने के फैसले के बारे में घोषणा करते हुए, मायावती ने कहा कि चौटाला के साथ किया गया समझौता प्रस्तावित सीट-बंटवारे के फॉर्मूले के अनुसार 'अनुचित' था।

Haryana Assembly Elections: चौटाला बोले जेजेपी, बीएसपी को 40 सीटें देने को तैयार थी

पीएम मोदी ने फूंका चुनावी बिगुल

रविवार को रोहतक में एक जनसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनावी बिगुल फूंकते हुए न केवल पहले 100 दिनों के शासनकाल में अपनी सरकार का रिपोर्ट कार्ड पेश किया, बल्कि भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद से लड़ने के लिए मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्व वाली सरकार की भी प्रशंसा की। अगर विपक्ष की बात की जाए तो इनेलो के अधिकांश विधायक और नेता बीजेपी में शामिल हो गए हैं, वहीं राज्य में लगातार दो बार 2014 तक शासन कर चुकी कांग्रेस आंतरिक गुटबाजी की शिकार है। खट्टर, राज्य में बीजेपी के पहले मुख्यमंत्री हैं और उनका लक्ष्य विधानसभा में पार्टी के विधायकों की वर्तमान संख्या 48 में सुधार करना है।

Posted By: Shweta Mishra