-500 झोलाछाप की हुई थी पहचान, लेकिन एक पर भी नहीं हुई थी कार्रवाई

-एसीएमओ के नेतृत्व में की गई कारवाई, सीज किए गए क्लीनिक

बरेली : हेल्थ डिपार्टमेंट की लापरवाही से झोलाछाप बेखौफ हैं. उनके इलाज से डेली लोगों की जान जा रही है. गहरी नींद में सोया हेल्थ डिपार्टमेंट वेडनसडे को जाग गया. डिस्ट्रिक्ट में जगह-जगह छापेमारी अभियान चलाया तो 18 झोलाछाप पकड़ में आ गए. एसीएमओ के नेतृत्व में टीम ने क्लीनिक चलाने के सर्टिफिकेट और डॉक्टर की डिग्री मांगी तो वे नहीं दिखा सके. जिस पर झोलाछाप को गिरफ्तार कर क्लीनिक सील कर दिया गया.

झोलाछापों की हुई थी पहचान

पिछले साल झोलाछाप के इलाज से केस बिगड़ने पर कई पेशेंट डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल पहुंचे थे. डॉक्टरों ने तीमारदारों से पूछताछ कर झोलाछापों की पहचान की थी. उनकी जानकारी के आधार पर टीम ने करीब 500 झोलाछाप चिन्हित किए थे. लेकिन अभियान की भनक लगते ही झोलाछाप मौके से फरार हो गए. जिसके बाद से अब कार्रवाई कर झोलाछापों की धरपकड़ की गई है.

झोलाछाप बिगाड़ देते केस

हाल ही में सीएमओ डॉ. विनीत शुक्ला ने शासन को पत्र भेजकर अवगत कराया था कि लोग झोलाछाप से प्राथमिक इलाज लेकर यहां गंभीर हालत में आते हैं. जिससे उनकी मौत हो जाती है. इससे डेथ रेट बढ़ रहा है. जो एनुअल रिपोर्ट विभाग की ओर से भेजी जा रही है उसमें अधिकांश डेथ झोलाछाप के इलाज से हो रही है. लेकिन शासन की नजर में मौत की वजह डिस्ट्रिक्ट हॉस्टिपल माना जा रहा है.

इन पर हुई कार्रवाई

- डॉ. अबरार, निवासी इटौआ, भोजीपुरा

- डॉ. हरीश, निवासी मझौआ, भोजीपुरा.

- डॉ. बंगाली, निवासी लक्ष्मीयापुर, भोजीपुरा.

- डॉ. नंदलाल, निवासी थानुपर, भोजीपुरा.

- डॉ. जयराम निवासी, वोहित, भोजीपुरा.

- डॉ. आरएम गंगवार, जनता आर्युवेदिक स्टोर, जादोपुर, भोजीपुरा.

- डॉ. आरिफ हुसैन, जादौपुर, भोजीपुरा.

- डॉ. संजीव कुमार गंगवार, पकॉनी, भोजीपुरा.

डॉ. मनीष कुमार, पकोनी, भोजीपुरा.

डॉ. एम रजा, पकोनी, भोजीपुरा.

डॉ. राशिद, भोजीपुरा

डॉ. एमके विश्वास, पुरानी बाजार, भोजीपुरा.

डॉ. भगवत, नगरिया भोजीपुरा

डॉ. जुनैद, नगरिया, भोजीपुरा

डॉ. हकीम शेरी, शाहजी क्लीनिक, जादोपुर, सेंथल रोड,

डॉ. तौफिक, जिटौआ, भोजीपुरा.

डॉ. वोहित वाले, भोजीपुरा.

वर्जन

18 झोलाछापों पर कार्रवाई की गई है. इनके पास से किसी भी प्रकार की कोई मेडिकल डिग्री नही मिली है. लगातार अभियान चलाकर कार्रवाई की जाएगी.

डॉ. विनीत शुक्ला, सीएमओ.