कुंभ मेले में डॉक्टरों की कमी से जूझ रहा है स्वास्थ्य विभाग

एएमए जैसी संस्थाओं ने किया है वालंट्री डॉक्टर्स अवेलेबल कराने का वादा

PRAYAGRAJ: कुंभ मेले की तैयारियों में लगा स्वास्थ्य विभाग फिलहाल डॉक्टर्स की कमी से जूझ रहा है. अभी तक सरकार द्वारा महज 60 फीसदी डिमांड ही पूरी की जा सकी है. ऐसे में विभाग मेडिकल क्षेत्र से जुड़ी गैर सरकारी संस्थाओं से डॉक्टरों को उपलब्ध कराने की मांग करने में लगा है. खासकर स्नान पर्वो पर सहायता देने की हामी कई संस्थाओं ने कर दी है. बता दें कि मेले में बड़ी संख्या में हॉस्पिटल और फ‌र्स्ट एड पोस्ट तैयार किए जा रहे हैं.

300 मांगे थे, मिले 180

विभागीय अधिकारियों का कहना है कि प्रदेश सरकार से कुंभ के लिए 300 डॉक्टर्स की मांग की गई थी. लेकिन अभी तक 180 ही उपलब्ध कराए गए हैं. इसका सीधा सा कारण पूरे प्रदेश में डॉक्टरों की कमी होना है. अधिकारियों को उम्मीद है कि अभी कुछ और डॉक्टर्स मेले को मिल सकते हैं. मेले में इस बार तकरीबन 15 करोड़ श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद की जा रही है. ऐसे में डॉक्टरों की कमी होने से दिक्कतें पैदा हो सकती हैं.

यह करेंगे मरीजों का इलाज

हालांकि प्राइवेट नर्सिग होम एसोसिएशन और इलाहाबाद मेडिकल एसोसिएशन जैसी संस्थाओं ने आगे आकर डॉक्टरों की कमी पूरा करने का वादा किया है. उनका कहना है कि मुख्य स्नान पर्वो पर उनके डॉक्टर्स मेले के हॉस्पिटल्स में अपनी सेवाएं उपलब्ध कराएंगे. वैसे भी स्नान पर्वो पर मरीजों की संख्या बढ़ती है और इस समय अधिक से अधिक स्वास्थ्य सेवाओं की आवश्यकता सामने आती है. इसलिए यह संस्थाएं ऐसे मौकों पर अपनी ओर से कमी को पूरा करने का प्रयास करेंगी.

रोजाना भेजेंगे नए डॉक्टर्स

इसके अलावा कुछ वालंट्री आर्गनाइजेशंस भी हैं जो रोजाना मेले में अपनी ओर से अलग-अलग विधाओं के डॉक्टर्स भेजेंगी. यह ओपीडी में मौजूद रहकर मरीजों का इलाज करेंगे. यह पूरे मेला पीरियड में रोटेशन के आधार पर किया जाएगा. प्रतिदिन नए डॉक्टर्स भेजे जाएंगे. साथ ही मेदांता द मेडिसिटी गुड़गांव ने भी अपनी ओर से कार्डियक स्पेशलिस्ट और फिजीशियन देने का वादा किया है.

मेले में हैं कितने हॉस्पिटल्स

100 बेड का एक सेंट्रल हॉस्पिटल.

20 बेड के 11 सर्किल हॉस्पिटल्स.

20 बेड के दो संक्रामक बीमारियों के हॉस्पिटल.

25 फ‌र्स्ट एड पोस्ट.

10 आउट हेल्थ पोस्ट.

300 मेले में कुल डॉक्टर्स की डिमांड

180 अभी तक उपलब्ध डॉक्टर्स

वर्जन..

पूरे प्रदेश में डॉक्टर्स की कमी है. हमने सरकार से अधिक डॉक्टर्स की मांग की थी. जितने उपलब्ध हैं उनसे मेले में मरीजों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी. इसके अलावा अन्य संस्थाओं की ओर से भी पूरी मदद का दावा किया है. सरकार अभी डॉक्टर्स भेज रही है इसलिए संख्या बढ़ने की उम्मीद है.

-डॉ. एके पालीवाल, अपर निदेशक स्वास्थ्य विभाग