आगरा (ब्यूरो)खेरिया मोड, पुरानीमंडी से ताजमहल के पूर्वी गेट तक एनएसजी कंमोडो मुस्तैद नजर आए, वहीं एटीएस के जवान हाथों में वेपन लिए अलर्ट मोड पर रहे। इस दौरान किसी भी अजनबी को पांच मीटर के दायरे में भटकने नहीं दिया गया। तय प्लान के अनुसार काफिले के रास्ते में पड़ने वाले बिल्डिंग और मकानों पर हाथों घन लिए अर्लट नजर आए।

चप्पे-चप्पे पर पुलिस के जावन

काफिले के मोड पर चप्पे-चप्पे पर पुलिस के जवान नजर आए। उनके द्वारा काफिले वाले रोड पुलिस की तैनाती की गई। जिसमें अधिकतर जवान बाहर से बुलाए गए थे। खेरिया मोड से लेकर रेलबे ओबरब्रिज, ईदगाह बस स्टेंड, माल रोड, पुरानी मंडी, कलाकृति चौरहे पर उत्तर प्रदेश पुलिस के जवान खड़े रहे। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का काफिला जाने के बाद ही उन्होंने राहत की श्वांस ली। वह सुबह से ही अपने प्वाइंट पर पहुंच गए थे।

काफिले के मार्ग में दिखे श्वान

ट्रम्प के काफिले की सुरक्षा के लिए चार हजार से अधिक पुलिसकर्मियों सहित एसपी, एएसपी, सीओ, इंस्पेकटर्स व सबइंस्पेकटर्स हर चौराहे पर मुस्तैद खड़े दिखे। लेकिन इसके बाद भी श्वान और गौ-वंश पुरानी मंडी चौराहा, खेरिया मोड चौराहे पर अचानक श्वान और गौ-वंश देख पुलिसकर्मियों के हाथ-पैर फूल गए। आनन-फानन में सुरक्षाकर्मियों द्वारा उन्हें चौरहो से दूर किया गया। ट्रम्प आवगमन से दो दिन पूर्व निगम की टीम ने श्वानों को पकड़ने के लिए अभियान चलाया था। लेकिन इसके बाद भी आवारा पशुओं को लेकर सुरक्षाकर्मी मुस्तैद नजर आए, खास तौर पर तक जब ट्रम्प का काफिला तय रोड से गुजर रहा था।

मुस्तैद रहे बीएसफ, आईटीबीपी के जवान

ट्रम्प की सुरक्षा के लिए एक ओर जहां मुख्य रोड पर पुलिस की मुस्तैदी रही वहीं जंगलों में बीएसएफ, आईटीबीपी के जवान अर्लट पोजीशन पर रहे। वहीं रेलवे सुरक्षा मार्गो पर जीआरपी, आरपीएफ के जवान भी सुरक्षा व्यवस्था में मुस्तैद नजर आए।

- सेंट्रल पैरा मिलिट्री फोर्स 10 कंपनी

- पीएसी जवानों की 10 कंपनियां

- 4000 कांस्टेबल दूसरे जिलों से

- एसपी

- 18एडीशनल एसपी

- 80सीओ

- 18टीआई

- 125एसएचओ

- 350एसआई

- 34टीएसआई

- 50एसएसआई

- 450 एचसीपी ट्रैफिक

- 10 पैरा मिल्ट्री कंपनी

'राष्ट्रपति सुरक्षा कार्यक्रम पहले से ही प्लान किया गया था, जिसमें किसी आम को कोई परेशानी नहीं होने दी गई। वहीं सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रहे।'

- बोत्रे रोहन प्रमोद, एसपी सिटी

Posted By: Inextlive