--कानून का उल्लंघन कर 500 करोड़ की संपत्ति खड़ी करने के बयान पर झामुमो और भाजपा आमने-सामने

- मुख्यमंत्री ने साहिबगंज में कहा था शिबू-हेमंत ने बनाई है 500 करोड़ की संपत्ति

- हेमंत ने किया पलटवार, कहा- अगर मैं दोषी हूं तो मुझे होना चाहिए था जेल में

- एक सप्ताह के भीतर जवाब न देने पर कोर्ट जाने की चेतावनी

रांची (ब्यूरो)। झारखंड में राजनीतिक लड़ाई अब कोर्ट की दहलीज तक पहुंच सकती है. मुख्यमंत्री रघुवर दास के आरोपों से नाराज झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन ने अपने वकील के माध्यम से उन्हें कानूनी नोटिस भेजा है. हेमंत सोरेन को इस बात पर आपत्ति है कि बीते दिनों साहिबगंज की एक जनसभा में मुख्यमंत्री रघुवर दास ने उनपर आरोप लगाया था कि उनके पास 500 करोड़ की जमीन-जायदाद है. उन्होंने चुनौती देते हुए कहा कि पुलिस समेत प्रशासन का सारा तंत्र मुख्यमंत्री रघुवर दास के पास है. वे पांच साल से सत्ता में हैं. अगर उन्होंने किसी प्रकार की अनियमितता की है तो उन्हें जेल में होना चाहिए था. हेमंत सोरेन ने यह भी कहा कि अवैध तरीके से जमीनें लेने के मामले की जांच के लिए सरकार ने एक विशेष जांच दल (एसआइटी) का भी गठन किया था. उस जांच रिपोर्ट को सरकार ने दबाकर रखा है. सरकार को चाहिए कि जांच रिपोर्ट को सार्वजनिक कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करे. हेमंत सोरेन ने कहा कि अगर सात दिनों के भीतर मुख्यमंत्री की ओर से नोटिस का उत्तर नहीं मिला तो वे आगे की कानूनी कार्यवाही करेंगे.

कई लड़ाइयां लड़ी
हेमंत सोरेन ने मुख्यमंत्री को दुर्भावना से ग्रसित बताते हुए उन्हें आदिवासी विरोधी करार दिया. कहा, सार्वजनिक जीवन में छवि ही सबसे बड़ी पूंजी होती है. आधारहीन बातें बोलकर मुख्यमंत्री ने उनकी छवि को नुकसान पहुंचाया है. मुख्यमंत्री मर्यादा का ख्याल नहीं रखते और उनकी भाषा गाली गलौज वाली है. झारखंड मुक्ति मोर्चा इसे बर्दाश्त नहीं करेगा. मुख्यमंत्री बदनाम करने की साजिश रच रहे हैं. इससे पहली भी झारखंड मुक्ति मोर्चा ने इनसे बड़ी हस्तियों के खिलाफ लड़ाइयां लड़ी हैं.

10 लीगल नोटिस भेजेंगे हेमंत सोरेन को : भाजपा
भाजपा ने नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन के द्वारा मुख्यमंत्री को भेजे गए लीगल नोटिस को हास्यास्पद बताया. प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा कि निराशा और कुंठा में घिरे हेमंत सोरेन अब सब हथकंडे अपना रहे हैं. हेमंत सोरेन ने पिछले 5 वषरें के दौरान भ्रष्टाचार के बेबुनियाद आरोप लगाकर सरकार की छवि को धूमिल करने का प्रयास किया है. भाजपा इन मामलों में हेमंत सोरेन को लीगल नोटिस भेजेगी. वे एक लीगल नोटिस दे रहे हैं तो उसके जवाब में भाजपा 10 लीगल नोटिस देगी.

क्या 500 करोड़ से ज्यादा है प्रॉपर्टी
भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि हेमंत सोरेन को स्पष्ट करना चाहिए कि उनके द्वारा अर्जित की गई प्रॉपर्टी 500 करोड़ की नहीं है तो क्या यह उससे ज्यादा की है या कम की है? सार्वजनिक जीवन में होने के कारण हेमंत सोरेन को राज्य की जनता को अपनी प्रॉपर्टी के वास्तविक मार्केट मूल्य के बारे में बताना चाहिए. प्रतुल ने कहा कि पूरी दुनिया जानती है कि सोरेन परिवार के द्वारा पूरे राज्य में जमकर जमीन की रजिस्ट्री की गई है और पांच सितारा सुविधाओं वाला सोहराई भवन भी बनाया गया है. इनमें से अधिकांश संपत्ति सीएनटी-एसपीटी कानून की धज्जियां उड़ाकर हासिल की गई है. हेमंत सोरेन द्वारा भाजपा सरकार पर लगातार निराधार भ्रष्टाचार के आरोप लगाए गए हैं.
ranchi@inext.co.in

Posted By: Inextlive