कमरे में बंद कर किया हमला, घाव में लगे 75 टांके

- मकान मालिक का पक्ष लेने से नाराज था दूसरा किराएदार

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW : मकान मालिक और किराएदार के विवाद में पुलिस के सामने गवाही देने पर हाईकोर्ट के ‌र्क्लक पर एक दर्जन लोगों ने चाकू से ताबड़तोड़ हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया. कमरे में बंद कर अंजाम दी गई वारदात में पीडि़त ने किसी तरह पुलिस चौकी पहुंचकर अपनी जान बचाई. इंदिरानगर पुलिस ने घायल को इलाज के लिए लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया.

चाकू और ब्लेड से किए 75 घाव

मूलरूप से बाराबंकी निवासी हाईकोर्ट में ‌र्क्लक के पद पर तैनात मो. हसनैन संतपुरम तकरोही में महमूद खान के घर किराए पर रहते हैं. हसनैन ने बताया कि बुधवार शाम करीब 3.30 बजे घर के अंदर दूसरे किराएदार रिजवान उसकी पत्नी शाजिया, महमूद खान उसकी पत्नी बेबी व अन्य तीन से चार लोगों ने उस पर कमरे में चाकू से ताबड़तोड़ हमला शुरू कर दिया. अस्पताल में हसनैन के दोस्त जावेद ने बताया कि उसके शरीर पर चाकू व ब्लेड के करीब एक दर्जन घाव हैं. डॉक्टरों ने उसे करीब 75 टांके लगाए हैं.

पहली पत्नी का साथ देने पर हमला

महमूद खान सऊदी में नौकरी करता है. घर में उसकी पहली पत्नी अजमतुन्नीशा साथ रहती है. किराएदार रिजवान के 25,500 रुपये किराया और उधारी नहीं देने से अजमतुन्नीशा का उससे विवाद चल रहा था. हसनैन अक्सर अजमतुन्नीशा के पक्ष में रहता था. आरोप है कि इससे बेबी और रिजवान दोनों ही उसको धमकी देते थे. मंगलवार को भी पैसे को लेकर हुए विवाद में हसनैन से अजमतुन्नीशा के पक्ष में गवाही दी. इस पर पुलिस ने समझौते में रिजवान को पैसा देने और बुधवार को मकान खाली करने को कहा था. इसी बात को लेकर रिजवान व बेबी समेत अन्य लोगों ने हसनैन पर हमला कर दिया.

3 अगस्त को हुआ था समझौता

महमूद की पहली पत्‍‌नी मकान में किरायेदार से किराया वसूलती थी. बाइक मिस्त्री रिजवान ने कई महीनों से किराया नहीं दिया था, जिसे लेकर दोनों के बीच विवाद चल रहा था. इसी की शिकायत अजमतुन्नीशा ने पुलिस चौकी में की थी. 3 अगस्त को पुलिस ने दोनों पक्षों में समझौता कराया था. इसी समझौते पर हसनैन गवाह भी बना था.

कोट-

हमले के बाद आरोपी घर से फरार हो गए. पीडि़त पर ब्लेड से हमला किया गया है. घायल की तरफ से तहरीर मिलने के बाद मुकदमा दर्ज कर जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी

- दीपक कुमार सिंह, सीओ गाजीपुर