मेरठ (ब्यूरो)। पुलिस ने दिल्ली में चल रहे कॉल सेंटर पर छापा मारकर तीन छात्रों को गिरफ्तार कर उनसे लैपटॉप और मोबाइल बरामद किए हैं। गैंग का मुख्य आरोपी फरार चल रहा है, जिसकी गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। आरोपी सस्ते टूर का ऑफर देकर लोगों को लुभाते थे। इसके बाद सौ रुपये फीस बताकर रजिस्ट्रेशन के बहाने उनके डेबिट कार्ड का नंबर पूछकर बैंक खाते से पैसे उड़ा देते थे

यह है मामला

पुलिस लाइन में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में एसपी क्राइम राम अर्ज ने बताया कि खरखौदा थाना क्षेत्र के लोहियानगर निवासी सहादत हुसैन ने क्रेडिट कार्ड की डिटेल लेकर खाते से 39 हजार रुपये निकालने की शिकायत की थी। इसकी जांच साइबर क्राइम सेल ने की। जांच में कई ई-वॉलेट सामने आए, जिनमें खाते से पैसा ट्रांसफर कर एक दुकान से कैश प्राप्त किया गया। साइबर सेल ने गुरुवार को दिल्ली के सागरपुर इलाके में चल रहे कॉल सेंटर पर छापा मारकर इस गिरोह का पर्दाफाश कर दिया। एसपी क्राइम रामअर्ज ने बताया कि पकड़े गए अभियुक्त निखिल निवासी पालम कॉलोनी, राहुल शर्मा निवासी आरजेड शिवपुरी और अजय गुप्ता निवासी आरजेड रघुनगर, थाना सागरपुर साउथ दिल्ली हैं। निखिल बीए, राहुल बीकॉम और अजय इंटरमीडिएट का छात्र है।

लड़कियों से कॉल कराते थे

आरोपियों ने बताया कि वह हॉलीडे पैकेज बेचने के नाम पर लड़कियों से कॉल कराते थे। टूर का सबसे सस्ता ऑफर बताते थे। इसमें खाना एकदम फ्री होने की बात कहते थे। झांसे में आए लोगों से उन्हीं के खाते से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने के नाम पर डेबिट-क्रेडिट कार्ड का नंबर पूछते थे। इसके बाद उक्त खाते से विभिन्न वॉलेट में रकम ट्रांसफर कर ली जाती थी। निखिल और राहुल यह काम करते थे, जबकि वॉलेट में आई रकम को कैश में बदलने के लिए वह अजय गुप्ता का सहयोग लेते थे। मुख्य आरोपी लोकेश निवासी नसीरपुर, दिल्ली फरार है।

meerut@inext.co.in

Posted By: Inextlive