01

करोड़ रुपए का बजट मिला है मदन मोहन मालवीय स्टेडियम व अमिताभ बच्चन स्पो‌र्ट्स कॉम्प्लेक्स के हॉस्टल के लिए.

47

लाख रुपए विभाग खर्च करेगा अमिताभ बच्चन स्पो‌र्ट्स कॉम्प्लेक्स के हॉस्टल पर जीर्णोद्धार के लिए.

53

लाख रुपए से मदन मोहन मालवीय स्टेडियम के हॉस्टल का कराया जाएगा जीर्णोद्धार.

30

खिलाड़ी बॉलीवाल व बैडमिंटन के रहते हैं अमिताभ बच्चन स्पो‌र्ट्स काम्प्लेक्स के हास्टल में.

30

खिलाड़ी एथलेटिक्स के रहते हैं मालवीय स्टेडियम के हॉस्टल में.

जीर्णोद्धार के लिए भेजे गए प्रस्ताव को शासन ने दी हरी झंडी, बजट हुआ पास

-मदन मोहन मालवीय स्टेडियम व अमिताभ बच्चन स्पो‌र्ट्स कॉम्प्लेक्स के हॉस्टल में जल्द शुरू होगा काम

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: हॉस्टल में रह कर ट्रेनिंग ले रहे खिलाडि़यों के लिए खुशखबरी है. मदन मोहन मालवीय स्टेडियम व अमिताभ बच्चन स्पो‌र्ट्स कॉम्प्लेक्स के हॉस्टल की काया चमकने वाली है. काफी पुराने ये दोनों हॉस्टल रंगाई-पुताई व बजट के अभाव में बदसूरत हो गए हैं. खिड़कियों से लेकर दरवाजे तक की स्थिति ठीक नहीं है. यह सब देखते हुए जीर्णोद्धार के लिए भेजे गए प्रस्ताव को शासन ने हरी झंडी दे दी है. सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो जल्द ही मिले हुए एक करोड़ रुपए के बजट से हास्टलों के जीर्णोद्धार का काम शुरू हो जाएगा.

छह माह पूर्व भेजा गया था प्रस्ताव

मदन मोहन मालवीय स्टेडियम व अमिताभ बच्चन स्पो‌र्ट्स कॉम्प्लेक्स के हॉस्टल काफी पुराने हैं. इन दोनों हॉस्टलों में विभिन्न खेलों के कुल 60 खिलाड़ी रह कर नियमित प्रशिक्षण लेते हैं. अमिताभ बच्चन स्पो‌र्ट्स काम्प्लेक्स के हॉस्टल में बॉलीवाल व बैडमिंटन के 30 खिलाड़ी हैं. जबकि मदन मोहन मालवीय स्टेडियम के हॉस्टल में केवल एथलेटिक्स के 30 खिलाड़ी रहते हैं. हॉस्टल में रहने वाले इन खिलाडि़यों को सरकार कई तरह की सुविधाएं प्रदान करती हैं. इन सुविधाओं में खाना और किट आदि शामिल हैं. हॉस्टल में रहने वाले इन खिलाडि़यों को सुबह और शाम रियाज करने की सख्त हिदायत है. सुबह चार बजते ही ग्राउंड में इनकी प्रैक्टिस शुरू हो जाती है.

होती है काफी मुश्किल

इधर कई वर्षो से हॉस्टल की रंगाई-पुताई व मरम्मत कार्य नहीं हुआ. देख-रेख व मरम्मत के अभाव में हॉस्टल की स्थिति दयनीय हो गई है. दोनों हॉस्टलों की दीवार और छत से चूना एवं पेंट झरता रहता है. इससे हॉस्टलर्स को उस वक्त ज्यादा दिक्कत होती है जब वे सो रहे हैं, या फिर खाना खा रहे होते हैं. ऐसी स्थिति में चूना व पेंट गिरने से खाना तो खराब होता ही है वे सो भी नहीं पा रहे. हॉस्टल की कई खिड़कियों के शीशे टूट गए हैं. इससे गर्मी में कमरे गर्म और ठंडी में काफी ठंडा हो जाने से खिलाडि़यों का इनमें रहना दुश्वार है. हालात को देखते हुए अफसरों ने जीर्णोद्धार का प्रस्ताव डीएम को भेजा था. डीएम ने अपने स्तर से फाइल पास करते हुए शासन के पास भेज दी थी. करीब छह महीने के बाद भेजे गए इस प्रस्ताव को शासन ने भी हरी झंडी दे दी है.

बॉक्स

कार्यदायी संस्था हुई नामित

मदन मोहन मालवीय स्टेडियम व अमिताभ बच्चन स्पो‌र्ट्स कॉम्प्लेक्स के हॉस्टल की रंगाई-पुताई से लेकर जीर्णोद्धार तक का काम कराने के लिए शासन ने कार्यदायी संस्था यूपी सहकारी संघ लिमिटेड को नामित कर रखा है. कार्यदायी संस्था के जिम्मेदारों ने अब काम शुरू कराने के लिए स्टेडियम के अधिकारियों से मशविरा करना शुरू कर दिया है. वह इस बात को लेकर उधेड़बुन में हैं कि पुताई में इस बार कौन सा रंग यूज किया जाए. खिड़कियों के कांच बदल दिए जाएं या जंग खाई हुई खिड़कियों को ही चेंज कर दिया जाए.

वर्जन

हॉस्टल के रंगरोगन और जीर्णोद्धार की स्वीकृति सरकार से मिल गई है. इसके लिए कुल एक करोड़ रुपए का प्रस्ताव भेजा गया था. सरकार ने पूरा बजट पास कर दिया है. कार्यदायी संस्था भी नामित हो चुकी है. जल्द ही दोनों हॉस्टलों में काम शुरू हो जाएगा.

-संजय शर्मा

क्षेत्रीय क्रीड़ा अधिकारी

अमिताभ बच्चन स्पो‌र्ट्स काम्प्लेक्स म्योहाल