- करीब 75 पर्यटकों ने लिया बैलून सफारी का लुत्फ

आगरा. ताजनगरी में चल रहे ताज बैलून फेस्टिवल का चौथे दिन सबसे ज्यादा खुशनुमा रहा. चौथे दिन सभी 15 बैलून्स ने उड़ान भरी. इनमें करीब 75 पर्यटकों ने बैलून सफारी का मजा लिया. सभी बैलून्स ने अपना सफर पूरा किया, किसी की भी इमरजेंसी लैंडिंग नहीं हुई.

पीएसी ग्राउंड हुई लोकेशन

बैलून्स उड़ाने के लिए लॉन्चिंग साइट पहले हाथी घाट निर्धारित की गई थी लेकिन स्थितियां अनुकूल नहीं होने से लोकेशन बदल पीएसी ग्राउंड कर दी गई. पर्यटक बैलून के उड़ान भरने से एक घंटे पहले ही ग्राउंड में इकट्ठा हो गए. जैसे ही ग्राउंड पर बैलून उड़ने की तैयारियां शुरू हुई, पर्यटकों का सेल्फीज का दौर भी शुरू हो गया. वहां मौजूद हर शख्स ने रंग-बिरंगे बैलून्स के साथ खूब फोटोज लीं.

रंग-बिरंगा हुआ आसमान

फेस्टिवल में पहली बार सभी बैलून्स उड़ान भर पाए हैं. एक-एक करके जैसे ही सभी बैलून्स ऊपर पहुंचे तो आसमान को रंग-बिरंगा कर दिया. जमीन पर खड़े लोगों ने इस नजारे को अपने कैमरों में कैद किया. वहीं बैलून सवार पर्यटकों ने आसमान से ताजमहल का दीदार दिया और अविस्मरणीय पल को कैमरे में खींचा.

गांवों में उतरे बैलून

उड़ान पूरे होने पर सभी बैलून अलग-अलग गांवों में उतरे. जो ग्रामीण आसमान से बैलून सवारों का हाथ हिलाकर उनका ध्यान खींचने में लगे थे, जब उनके पास ही बैलून उतरा तो हर कोई लैंड हुई जगह तक दौड़ा चला आया. कुछ बैलून आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे के आसपास आलू के खेतों में उतरे. देखते ही देखते बैलून्स के आस-पास सैंकड़ों लोग जमा हो गए. ग्रामीणों ने विदेशी पायलट्स और पर्यटकों के साथ तस्वीरें खिंचानी शुरू कर दी और लैंड हुए बैलून के समेटने में सब ने हाथ लगाए.

नाइट ग्लो में हुई मस्ती

इसके बाद पीएसी ग्राउंड में आयोजित हुए नाइट ग्लो में पर्यटकों को निश्चित ऊंचाई से आगरा के रात्रि दर्शन कराए. पर्यटकों में बैलून में बैठने की होड़ मच मच गई. रात्रि के समय म्यूजिक ने आगरा के रात्रि दर्शन के मजे दुगने कर दिए. वहीं पर्यटन कार्यालय में बैलून के लगे लकी ड्रॉ के ड्रॉप बॉक्स में भी 150 से ज्यादा लोगों ने अपने आवेदन डाले.