नई दिल्ली (आईएएनएस)चीनी शॉर्ट वीडियो मेकिंग ऐप टिक टॉक के आलोचकों का जवाब सोनाली फोगाट बन गई हैं, टिकटॉक सेनसेशन, जिन्हें हरियाणा में आदमपुर सीट के लिए भारतीय जनता पार्टी ने टिकट दिया है। चुनावी मैदान में उनका मुकाबला तीन बार के एमएलए व कांग्रेस कैंडिडेट कुलदीप बिश्नोई से है।टिकटॉक पर फोगाट के 1.20 लाख से अधिक फॉलोवर्स हैं, फोगाट ने 175 से अधिक शॉर्ट वीडियो बनाए हैं, जो हरियाणा में बेहद लोकप्रिय हैं, खासकर युवा मतदाताओं में।

टिकटॉक यूजर्स के बीच बेहद पॉपुलर
हरियाणा में टिकटॉक यूजर्स के बीच उनकी लोकप्रियता को देखते हुए, बीजेपी ने इस जाट बहुल सीट पर छोटे पर्दे की अभिनेत्री व एक्टिविस्ट को तीन बार सीएम रहे स्वर्गीय भजनलाल के बेटे व सिटिंग एमएलए बिश्नोई के खिलाफ उतारा है। ऐसे लोग जो एंटरटेनमेंट के लिए अक्सर टिकटॉक का इस्तेमाल करते हैं, फोगाट को समुद्र तट पर अपनी साड़ी लहराते, जिम में एक्सरसाइज करते, आकर्षक धुनों पर डांस करते या सड़क पर चलते देख सकते हैं, इस दौरान कोई बॉलीवुड का गाना बैकग्राउंड में बज रहा होता है।

फोगाट ने टिकटॉक की लोकप्रियता को समझा
फोगाट को इस बात का श्रेय मिलना चाहिए कि वह समझती हैं कि टिकटॉक जिसके भारत में 200 मिलियन से अधिक यूजर्स हैं छोटे शहरों और कस्बों में ऐसी गृहिणियों, छात्रों और युवा आबादी के बीच खासा पॉपुलर है, जो व्हाट्सएप सहित सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर शॉर्ट वीडियो शूट कर साझा करना चाहते हैं। 15 सेकेंड की लोकप्रियता के लिए।

tiktok sensation sonali phogat को हरियाणा में बीजेपी का टिकट कैसे मिला

तमाम विवादों के बावजूद बढ़ी लोकप्रियता
चीनी शॉर्ट वीडियो-शेयरिंग ऐप टिकटॉक तमाम विवादों और नियंत्रण की मांग के बीच सफल रहा है- उसके सहारे फोगाट जैसी हस्तियां, समाज के शीर्षस्थ लोगों में जगह बनाने में कामयाब रही हैं। इस बीच टिकटॉक इस बात से खुश होगा कि 'भारत में अपनी रचनात्मकता को प्रदर्शित करने के लिए मंच तलाश रहे लोग बड़ी संख्या में उससे जुड़ते जा रहे हैं।' यह टिकटॉक के लिए विन-विन सिचुएशन है जो क्षेत्रीय भाषाओं पर ध्यान के जरिए अपने प्लेटफार्म पर रेवेन्यु जेनरेट करने के लिए जतन कर रहा है। अपनी लांच के साल भर के भीतर उसने वर्चुअल करेंसी व गिफ्ट जैसी इन ऐप परचेज की कई पेशकश की हैं। उसके रेवेन्यु का बड़ा हिस्सा विज्ञापन से आता है।

फोगाट का दावा
हालांकि, फोगाट का दावा है कि उन्हें बीजेपी का टिकट पिछले 12 वर्षों से पार्टी कार्यकर्ता के रूप में उनकी कड़ी मेहनत के चलते मिला है न कि टिकटॉक पर उनकी मौजूदगी के कारण। बहरहाल अगर आप टिकटॉक पर उनके 15-सेकेंड के वीडियो और उनके फॉलोवर्स, जो उनके वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल करते रहते हैं की बढ़ती संख्या पर नजर डालेंगे तो कहानी अलग नजर आएगी।

Posted By: Chandramohan Mishra